2 Bhu Mafia Declared – दो लोगों को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति


ख़बर सुनें

दो लोगों को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति
एंटी भू-माफिया में जमालुद्दीन खान व कामरान खान को शामिल करने का फैसला
नदी की भूमि को अपने नाम कराकर बेचने का था आरोप, जांच में सही मिला आरोप
संवाद न्यूज एजेंसी
देवरिया। उप जिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह की अध्यक्षता में तहसील स्तरीय एंटी भू-माफिया टॉस्क फोर्स की बैठक शनिवार को तहसील सभागार में हुई। इसमें अवैध दस्तावेज के आधार पर नदी की भूमि को अपने नाम कराकर बेचने के प्रकरण में जांच रिपोर्ट के आधार पर जमालुद्दीन खान व कामरान खान को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति करने का निर्णय लिया गया है।
एसडीएम सदर ने कहा कि ग्राम भीखमपुर तप्पा कचुआर में नदी की सुरक्षित भूमियों में कूटरचना कराकर जमालुद्दीन व कामरान ने अपना नाम श्रेणी 1(क) संक्रमणीय भूमिधर के खाते अंकित करा लिया था। इस संबंध में मुख्य राजस्व अधिकारी की अध्यक्षता में गठित त्रिस्तरीय जांच समिति द्वारा अपनी आख्या में स्पष्ट बताया गया कि नदी व खरह में अंकित भूमि को कूटरचित ढंग से इन्होंने अपने नाम करा लिया तथा जांच समिति ने इन दोनों के नाम से दर्ज इंद्राज को खारिज कराकर इनके विरुद्ध विधिक कार्यवाही करने की संस्तुति की थी। तत्क्रम में तहसील स्तरीय एंटी-भूमाफिया टॉस्क फोर्स ने इन दोनों को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति की है। इस दौरान पुलिस उपाधीक्षक श्रीयश त्रिपाठी, तहसीलदार सदर आनंद नायक, उप वनाधिकारी, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग, चकबंदी अधिकारी और अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग मौजूद रहे।

दो लोगों को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति

एंटी भू-माफिया में जमालुद्दीन खान व कामरान खान को शामिल करने का फैसला

नदी की भूमि को अपने नाम कराकर बेचने का था आरोप, जांच में सही मिला आरोप

संवाद न्यूज एजेंसी

देवरिया। उप जिलाधिकारी सदर सौरभ सिंह की अध्यक्षता में तहसील स्तरीय एंटी भू-माफिया टॉस्क फोर्स की बैठक शनिवार को तहसील सभागार में हुई। इसमें अवैध दस्तावेज के आधार पर नदी की भूमि को अपने नाम कराकर बेचने के प्रकरण में जांच रिपोर्ट के आधार पर जमालुद्दीन खान व कामरान खान को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति करने का निर्णय लिया गया है।

एसडीएम सदर ने कहा कि ग्राम भीखमपुर तप्पा कचुआर में नदी की सुरक्षित भूमियों में कूटरचना कराकर जमालुद्दीन व कामरान ने अपना नाम श्रेणी 1(क) संक्रमणीय भूमिधर के खाते अंकित करा लिया था। इस संबंध में मुख्य राजस्व अधिकारी की अध्यक्षता में गठित त्रिस्तरीय जांच समिति द्वारा अपनी आख्या में स्पष्ट बताया गया कि नदी व खरह में अंकित भूमि को कूटरचित ढंग से इन्होंने अपने नाम करा लिया तथा जांच समिति ने इन दोनों के नाम से दर्ज इंद्राज को खारिज कराकर इनके विरुद्ध विधिक कार्यवाही करने की संस्तुति की थी। तत्क्रम में तहसील स्तरीय एंटी-भूमाफिया टॉस्क फोर्स ने इन दोनों को भू-माफिया घोषित करने की संस्तुति की है। इस दौरान पुलिस उपाधीक्षक श्रीयश त्रिपाठी, तहसीलदार सदर आनंद नायक, उप वनाधिकारी, अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग, चकबंदी अधिकारी और अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग मौजूद रहे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*