4 arrested for gang-raping woman in Rampur: Ex-inspector absconding, who came out on interim bail, had gang-raped the woman in the chamber 9 months ago | अंतरिम जमानत पर बाहर आए पूर्व इंस्पेक्टर फरार, 9 महीने पहले अस्पताल के चेंबर में महिला से किया था गैंगेरेप

  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Rampur
  • 4 Arrested For Gang raping Woman In Rampur: Ex inspector Absconding, Who Came Out On Interim Bail, Had Gang raped The Woman In The Chamber 9 Months Ago

रामपुर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

चारों आरोपियों को विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया। एसआईटी ने आरोपियों की रिमांड की मांग की है।

रामपुर में चर्चित गैंगेरप मामले में पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। एसआईटी और एसओजी ने मुख्य आरोपी रामवीर सिंह यादव सहित चार आरोपियों को उज्जैन से गिरफ्तार कर लिया। चारों आरोपियों को विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया।

एसआईटी ने आरोपियों की रिमांड की मांग की है। उधर, पूर्व इंस्पेक्टर गंज अभी फरार हैं। उसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। पूर्व इंस्पेक्टर ने 15 दिन पहले अंतरिम जमानत ली थी। लेकिन अभी तक उसने सरेंडर नहीं किया है। बता दें, गंज थाने के पूर्व इंस्पेक्टर रामवीर सिंह यादव समेत पांच लोगों के खिलाफ महिला आयोग के संज्ञान लेने पर मुकदमा दर्ज किया गया था।

अस्पताल के चेंबर में किया था गैंगरेप

दरअसल, मामला 9 महीने पहले का है। आरोप है कि अस्पताल संचालक विनोद कुमार यादव ने पूर्व इंस्पेक्टर रामवीर से साठ-गांठ कर महिला को अस्पताल के चेंबर में बंद कर दिया। इसके बाद दोनों और तीन अन्य ने उसके साथ बारी-बारी से रेप किया। पूर्व इंस्पेक्टर और विनोद ने उसे जान से मारने की नीयत से मनोज, विजय और एक अन्य को सौंप दिया। वो उसे गाड़ी में डालकर ले जा रहे थे। रास्त में पुलिस के मिलने पर दोनों महिला को फेंककर फरार हो गए। पीड़िता के मुताबिक, यह सारी घटना अस्पताल मे लगे CCTV केमरे में भी कैद है।

करीब एक महीने पहले गैंगरेप के आरोपी गंज थाना के पूर्व इंस्पेक्टर रामवीर सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया है।

करीब एक महीने पहले गैंगरेप के आरोपी गंज थाना के पूर्व इंस्पेक्टर रामवीर सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया है।

एक महीने पहले निलंबित किया गया इंस्पेक्टर

करीब एक महीने पहले गैंगरेप के आरोपी गंज थाना के पूर्व इंस्पेक्टर रामवीर सिंह यादव को निलंबित कर दिया गया है। आरोप है कि इंस्पेक्टर ने महिला को चेंबर बंद करने गैंगरेप किया। साथ ही मारपीट कर उसके दांत तोड़ दिए थे और जान से मारने का भी प्रयास किया था। घटना की जांच के लिए एसआईटी (SIT) का गठन किया गया है।

सीएम के सामने आत्महत्या की दी थी धमकी

पसियापुरा थाना सिविल लाइन्स की रहने वाली महिला प्राइवेट हॉस्पिटल में नौकरी करती है। उसने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के रामपुर में आने से पहले वीडियो वायरल किया था। महिला ने कहा था कि अगर उसे न्याय नहीं मिला तो वह मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में आत्महत्या कर लेगी। महिला आयोग ने मामले को फौरन संज्ञान में लिया।

आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया।

आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया।

ये आरोपी किए गए गिरफ्तार

गैंगरेप के मुख्य आरोपी रामवीर सिंह यादव पुत्र नेकासीराम यादव (42) निवासी 13 बीपी कालोनी, मनोज (26) पुत्र जोगीराम निवासी इन्द्र प्रस्थ कालोनी, अमन (22) पुत्र शुभम अग्रवाल निवासी 13 बीपी कालोनी और विजय पुत्र शशीकान्त सक्सेना निवासी इन्द्र प्रस्थ कालोनी को महिला थाना प्रभारी निरीक्षक मुरादाबाद और एसओजी टीम मुरादाबाद के सहयोग से गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से एक-एक मोबाइल व कुल 720 रुपये और एक स्कार्पियो UP 22 AN 0707 बरामद हुई है।

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*