Despite withdrawing money, he used to give the application of transaction failure in the bank, used to take the amount again from the bank | रूपए निकालने के बावजूद बैंक में देते थे ट्रांजेक्शन फेल का एप्लीकेशन, बैंक से दोबारा भी लेते थे रकम

फतेहपुर44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एसपी राजेश कुमार सिंह ने शातिरों के बारे में दी जानकारी।

यूपी के फतेहपुर जिले में पुलिस और एसओजी टीम ने एटीएम हैकर्स गैंग का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह के चार शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया है। एसपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी एटीएम से छेड़छाड़ करते थे।
परिचितों से इकट्ठा करते थे एटीएम कार्ड
एसपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि यह शातिर पहले अपने परिचितों से एटीएम कार्ड इकट‌‌्ठे करते थे। साथ ही उनकी डिटेल और पासवर्ड भी जान लेते थे। शातिर अक्सर कहते थे कि उन्हें कहीं से धनराशि मंगानी है, इसलिए बैंक अकाउंट और एटीएम की जरूरत है। इसलिए परिचित उन्हें डिटेल मुहैया कराते थे।
एटीएम की कैश ट्रे को रोक देते थे
एसपी के मुताबिक एटीएम हासिल करने के बाद ये शातिर दूर दराज के एटीएम पर जाते थे। इसके बाद ट्रांजेक्शन के दौरान एटीएम की कैश ट्रे से जैसे ही रुपए बाहर निकलते थे, वैसे ही शातिर कैश ट्रे को हाथ लगाकर रोक देते थे। इससे वे कैश तो निकाल लेते थे। उधर बैंकिंग प्रोसेस में ट्रांजेक्शन की प्रक्रिया फेल होती जाती थी। इसका मैसेज भी बैंक अकाउंट धारक पर पहुंच जाता था।
बैंक में ट्रांजेक्शन फेल की देते थे अप्लीकेशन
इसके बाद इन शातिरों का दूसरा खेल शुरू हो जाता था। यह लोग खाता धारकों के नाम से एक प्रार्थना पत्र बैक में देते थे कि ट्रांजेक्शन के बावजूद भी उन्हें रुपए नहीं मिले हैं। प्रार्थना पत्र में फर्जी हस्ताक्षर के माध्यम से पुनः खाते में बैंक से रुपए मंगा लेते थे। धोखाधड़ी करके यह शातिर एक धनराशि को दोबार लेते थे।
पुलिस और एसओजी ने दबोचा
एसपी ने बताया कि जिले की कल्याणपुर पुलिस और एसओजी टीम को सूचना मिली कि कुछ लोग एटीएम मशीन को हैक कर पैसा निकलने के लिए कार से कानपुर आ रहे हैं। पुलिस ने Nh2 पर गाड़ियों की चेकिंग शुरू की। कार से विभिन्न बैंकों के खाता धारकों का 21 एटीएम कार्ड,एक ग्रीन कार्ड व 89, 480 रुपये नकद, दो तमंचा 314 बोर, चार कारतूस बरामद किए।
चेकिंग में पुलिस ने चार शातिरों को पकड़ा
टीम ने चार शातिरों को पकड़ा है। इसमें तीन कानपुर के हैं। गिरोह का सरगना अजय कुमार वर्मा पुत्र विजय कुमार चकेरी कानपुर है। इसके खिलाफ पहले भी मुकदमा कानपुर में दर्ज है। वहीं, इसके साथी सर्वेश कुमार उर्फ बबलू पुत्र मुन्नीलाल,दीपक पासवान पुत्र सुरेश कुमार चकेरी कानपुर के हैं। वहीं, जितेंद्र कुमार पासवान पुत्र रामदास कोराई मलवां का है।

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*