Identification of people who came in contact through contact tracing, all three are healthy after treatment | कांटेक्ट ट्रेसिंग के जरिये संपर्क में आए लोगों की भी पहचान, उपचार के बाद तीनों स्वस्थ

मुजफ्फरनगर18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

प्रतिकात्मक फोटो।

कोरोना वायरस का ओमिक्रोन वैरियंट जिले में दस्तक दे चुका है। संज्ञान में आने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने तीनों संक्रमितों को आइसोलेट कर उनका उपचार प्रारंभ कराया था। उनके संपर्क में आए लोगों पर भी पूरी नजर रखी जा रही है। उपचार के बाद गांधी कालोनी निवासी ओमिक्रोन संक्रमित तीनों मरीजों की रिपोर्ट भी नेगेटिव आ चुकी है।

जिले में कोरोना वायरस संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। जांच में जो लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं उनकी जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जा रही है। मंगलवार को जनपद में 15 लोगों में कोराना वायरस संक्रमण पाया गया था। जिनके नमूने भी जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेज दिये गए थे। इस समय जनपद में 41 कोरोना वायरस संक्रमित एक्टिक केस हैं। जिनको घरों पर ही आइसोलेट कर उपचार दिया जा रहा है। गांधी कालोनी निवासी एक परिवार के तीन सदस्य दिसंबर में कोरोना पाजिटिव पाए गए थे। जीनोम सीक्वेंसिंग में तीनों में ओमिक्रोन वायरस की पुष्टि हुई थी। स्वास्थ्य विभाग ने तीनों व्यक्ति की रिपोर्ट को गोपनीय रखते हुए खबर को सार्वजनिक नहीं किया था। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रो की माने तो तीनों मरीज अब स्वस्थ हैं, तथा उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आ चुकी है। कांटेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से उन लोगों को भी पता लगाया गया जो उक्त तीनों मरीजों के संपर्क में रहे। स्वास्थ्य विभाग सभी लोगों पर कड़ी नजर रख रहा है। लोगों में नाहक ओमिक्रोन वायरस को लेकर भ्रम व दहशत न फैले इसलिए तीनों मामलों को उजागर नहीं किया गया। सीएमओ डा. एमएस फौजदार का कहना है कि संक्रमण के नए मामले आने के मद्देनजर पूरी एहतियात बरती जा रही है। लोगों को मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग तथा संक्रमण से बचाव के अन्य सभी तरीके अपनाने की सलाह दी जा रही है।

प्रदेश में ओमिक्रोन वैरियंट के अब तक 31 केस

लखनऊ स्तर से जारी रिपोर्ट के आधार पर प्रदेश में अब ओमिक्रोन के 31 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 23 मामले मंगलवार को ही सामने आए। जिनमें लखनऊ में 8, मेरठ में 5, गाजियाबाद में 3, मुरादाबाद, कानपुर तथा आगरा में 2-2 व महाराजागंज में एक केस सामने आया। जबकि पूर्व में मुजफ्फरनगर में 3, गाजियाबाद में 2, रायबरेली, मेरठ तथा गौतमबुद्ध नगर में एक-एक केस सामने आ चुका है।

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*