Intermittent rain in Kanpur, Lucknow for 4 days, it will rain for 48 hours | कानपुर, लखनऊ में 4 दिन से हो रही रुक-रुककर वर्षा, 48 घंटे तक होगी बारिश

उत्तर प्रदेश13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कानपुर में हल्की बारिश से सड़क गीली हो गई।

लखनऊ में पिछले 3 दिनों से लगातार रुक-रुक कर बारिश हो रही है। अभी तक तो इससे खेती को खास नुकसान नहीं हुआ है। मगर, किसान डरे हुए हैं। डर इस बात का है कि अब इससे ज्यादा और तेज रफ्तार से बारिश न हो जाए। वजह ये है कि इस साल अक्टूबर से दिसंबर तक लखनऊ में सामान्य की तुलना में 200 % बारिश हो चुकी है। पिछले साल इन तीन महीनों में 46.5% ही बारिश हुई थी।

वहीं, 1995 के बाद जनवरी माह में इतनी बारिश हुई है। इसने 26 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। मौसम विभाग के मुताबिक, 24 घंटे में 43 MM बारिश दर्ज की गई है। बता दें कि 1995 में 54MM बारिश हुई थी। पहाड़ों पर बने विक्षोभ के चलते यूपी, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तराखंड में मौसम बदला है। वेस्ट यूपी में पिछले 5 दिन से बारिश का मौसम है। अगले दो दिन तक भी बारिश के आसार रहे हैं।

वेस्ट यूपी में लगातार बारिश
शनिवार रात में भी कानपुर, लखनऊ, मेरठ व आसपास के जिलों और एनसीआर में बारिश हुई। जिससे ठंड और भी बढ़ गई है। अभी 48 घंटे और बारिश के आसार बने हुए हैं। NCR के मेरठ, गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, बागपत, बुलंदशहर, हापुड़, सहारनपुर के अलावा शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, बरेली, शाहजहांपुर जिलों में बारिश की संभावना है। आगरा और अलीगढ़ मंडल के जिलों के अलावा मध्य यूपी में भी बारिश रहेगी। झांसी में लखनऊ व पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिलों में भी बारिश का मौसम है।

मेरठ में देर रात हुई बारिश का फोटो

मेरठ में देर रात हुई बारिश का फोटो

पहाड़ों पर बर्फ, मैदानी इलाकों में बारिश
पहाड़ों पर लगातार बर्फ गिरने से वेस्ट यूपी, दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र में पिछले एक सप्ताह से सर्दी बढ़ी है। पिछले दिनों बारिश से NCR का न्यूनतम तापमान 3 डिग्री तक पहुंच गया था। मौसम विभाग के अनुसार, वेस्ट यूपी ही नहीं, बल्कि एक साथ कई राज्यों में बारिश से मौसम बदला है।। उत्तराखंड, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा समेत कई राज्यों में बारिश की अगले दो दिन तक संभावना है। मैदानी इलाकों में बारिश ने मौसम बदल दिया है।

लगातार हो रही बारिश
पिछले 4 दिनों से मौसम बदला हुआ है। आसमान में बादल छाए रहे और तेज हवाओं व हल्की बूंदाबांदी से ठंड बढ़ी है। रात में हल्की हवाओं ने सर्दी और भी बढ़ा दी। मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक एन सुभाष के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से मेरठ समेत वेस्ट यूपी में पिछले 4 दिन से मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। 5 जनवरी को दिनभर बूंदाबांदी के बाद रात में भी झमाझम बारिश हुई।

सहारनपुर में सड़क पर छाई हल्की धुंध

सहारनपुर में सड़क पर छाई हल्की धुंध

6 जनवरी को आगरा, अलीगढ़ और लखनऊ मंडल के जिलों बारिश हुई। 5 जनवरी के मुकाबले 6 जनवरी को दिन के तापमान में 4.5 डिग्री और रात के तापमान में 2.1 डिग्री की बढ़ोतरी दर्ज की गई। 7 जनवरी को रातभर बारिश हुई। सात जनवरी की दोपहर तक भी बारिश थमी नहीं। 8 जनवरी को रातभर बारिश हुई। 9 जनवरी की सुबह भी आसमान में घने बादल छाए हुए हैं।

सब्जियों के साथ फसलों को भी नुकसान
कृषि विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. रितेश शर्मा का कहना है कि बेमौसम बारिश से कुछ फसलों को भी नुकसान है। कई हिस्सों में जहां ओला गिरा है वहां सरसों, आलू, गाजर और गन्ने की फसल को नुकसान पहुंचा है। बारिश से खेत में पानी भर जाता है, जिससे आलू मिट्‌टी में ही गलने लगता है।

बारिश के साथ हवा चलने से सरसों की पत्ती टूटने लगती है और गन्ने की छिलाई बंद हो जाती है। अभी भी बारिश होने की संभावना है। कुछ क्षेत्रों में आलू, गाजर, मटर, टमाटर को नुकसान हुआ है। गेहूं की फसल जमी नहीं है उसमें भी नुकसान है।

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*