People Praying For Well Being Of Captain Varun Singh Life After Chopper Crash With Cds Bipin Rawat – Captian Varun Singh Survived: कैप्टन वरुण जिंदगी की सलामती के लिए लोग मांग रहे दुआएं, चार माह पहले राष्ट्रपति से मिला था शौर्य चक्र


अमर उजाला ब्यूरो, देवरिया।
Published by: vivek shukla
Updated Wed, 08 Dec 2021 09:37 PM IST

सार

भारतीय वायु सेना का एमआई-17V5 हेलिकॉप्टर बुधवार को तमिलनाडु के कुन्नूर में क्रैश हो गया। इस हादसे में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों का निधन हो गया।

भारतीय वायुसेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह।
– फोटो : अमर उजाला।

ख़बर सुनें

तमिलानाडु के कुन्नूर में सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में देश के पहले सीडीएस जनरल विपिन रावत की पत्नी समेत 13 अन्य सैनिक अफसरों के साथ रुद्रपुर का लाल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह भी थे। वह हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए है। क्षेत्र में वरुण के घायल होने की सूचना पहुंचते ही लोग सन्न रह गए।

वरुण कन्हौली गांव के मूल निवासी हैं। वह कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता, पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह के भतीजे हैं। चार माह पहले वरुण सिंह राष्ट्रपति के हाथों शौर्य चक्र से सम्मानित हो चुके हैं।

कन्हौली गांव निवासी विंग कमांडर वरुण सिंह के पिता केपी सिंह सेना से रिटायर हो चुके हैं। पिछले वर्ष 12 अक्तूबर 2020 को फ्लाइंग कंट्रोल सिस्टम खराब होने के बाद भी विंग कमांडर वरूण सिंह ने करीब दस हजार फिट की ऊंचाई से विमान की सफल लैडिंग कराई थी। जिसके लिए 15 अगस्त को राष्ट्रपति ने उन्हे शौर्य चक्र से सम्मानित किया था।

बुधवार को हुए हादसे में विंग कमांडर वरुण सिंह के घायल होने की खबर से लोग आहत हो गए। सोशल मीडिया से लेकर लोग घरों में उनके सलामती की दुआं मांगने लगे। कन्हौली गांव में हर कोई उनकी हालत जानने को व्याकुल हो गया।

वरूण सिंह के चाचा पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि सेना के अधिकारियों के द्वारा हादसे में उनके घायल होने की सूचना प्राप्त हुई है। ईश्वर से उनके जल्द ठीक होने की कामना की जा रही है। उनका सैन्य अस्पताल वेलिंगटन में इलाज चल रहा है।

विस्तार

तमिलानाडु के कुन्नूर में सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में देश के पहले सीडीएस जनरल विपिन रावत की पत्नी समेत 13 अन्य सैनिक अफसरों के साथ रुद्रपुर का लाल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह भी थे। वह हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए है। क्षेत्र में वरुण के घायल होने की सूचना पहुंचते ही लोग सन्न रह गए।

वरुण कन्हौली गांव के मूल निवासी हैं। वह कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता, पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह के भतीजे हैं। चार माह पहले वरुण सिंह राष्ट्रपति के हाथों शौर्य चक्र से सम्मानित हो चुके हैं।

कन्हौली गांव निवासी विंग कमांडर वरुण सिंह के पिता केपी सिंह सेना से रिटायर हो चुके हैं। पिछले वर्ष 12 अक्तूबर 2020 को फ्लाइंग कंट्रोल सिस्टम खराब होने के बाद भी विंग कमांडर वरूण सिंह ने करीब दस हजार फिट की ऊंचाई से विमान की सफल लैडिंग कराई थी। जिसके लिए 15 अगस्त को राष्ट्रपति ने उन्हे शौर्य चक्र से सम्मानित किया था।

बुधवार को हुए हादसे में विंग कमांडर वरुण सिंह के घायल होने की खबर से लोग आहत हो गए। सोशल मीडिया से लेकर लोग घरों में उनके सलामती की दुआं मांगने लगे। कन्हौली गांव में हर कोई उनकी हालत जानने को व्याकुल हो गया।

वरूण सिंह के चाचा पूर्व विधायक अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा कि सेना के अधिकारियों के द्वारा हादसे में उनके घायल होने की सूचना प्राप्त हुई है। ईश्वर से उनके जल्द ठीक होने की कामना की जा रही है। उनका सैन्य अस्पताल वेलिंगटन में इलाज चल रहा है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*