sarpanch kidnapping case was fake in kanota jaipur, conspiracy hatched to recover the amount of one and a half lakh rupees, robbed to sarpanch by calling having fun with the call girl | डेढ़ लाख रुपए का कर्ज चुकाने के लिए रची साजिश, कॉल गर्ल के साथ मस्ती के बहाने बुलाकर सरपंच को लूटा

  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Sarpanch Kidnapping Case Was Fake In Kanota Jaipur, Conspiracy Hatched To Recover The Amount Of One And A Half Lakh Rupees, Robbed To Sarpanch By Calling Having Fun With The Call Girl

जयपुर30 मिनट पहले

डेढ़ लाख रुपए का कर्ज चुकाने के लिए जयपुर में पूर्व सरपंच ने अपहरण की साजिश रची और अपने साथी सरपंच को ही पार्टी के बहाने बुलाकर लुटवा दिया।

जयपुर-आगरा हाइवे पर 28 दिसंबर की रात को भूतपूर्व सरपंच के अपहरण केस का कानोता थाना पुलिस ने गुरूवार को खुलासा कर दिया। पुलिस पड़ताल में सामने आया कि डेढ़ लाख रुपए का कर्ज चुकाने के लिए जामडोली में सुमेल गांव के भूतपूर्व सरपंच मदन सिंह गुर्जर ने ही खुद के अपहरण व लूट की साजिश रची थी। इसके लिए उसने सगे दोस्त और सुमेल के वर्तमान सरपंच अजय सिंह को निशाना बनाया। उसे सेक्सटॉर्शन के बहाने बुलाकर मौज मस्ती का झांसा दिया।

फिर अपने ही परिचितों की मिलीभगत से अपना और अजय सिंह का अपहरण करवा दिया। बुधवार को वारदात सामने आने पर पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान की मदद से अपहरण की साजिश रचने वाले मदन सिंह गुर्जर और अपहरण करने वाले चार बदमाशों को उत्तरप्रदेश में फर्रूखाबाद जिले में राजारामपुरमई गांव से गिरफ्तार कर लिया। पांचों आरोपियों को जयपुर ले आए।

ये है पूरा मामला

डीसीपी (पूर्व) प्रहलाद कृष्णियां ने बताया कि मास्टरमाइंड भूतपूर्व सरपंच मदन गुर्जर आर्थिक कर्ज में डूबा हुआ था। डेढ़ लाख रुपए चुकाने के लिए उसने अपहरण की साजिश रची। फिर फिरौती और लूट के बहाने यह रकम अपने साथी सरपंच अजय सिंह से वसूलने का प्लान बनाया। 28 की रात को मदन सिंह ने अजय सिंह को फोन कर नायला रोड पर बुलाया। उसे कहा कि वह एक कॉल गर्ल बुला रहा है। वे लोग मौज-मस्ती करेंगे।

अजय सिंह अपने दोस्त मदन गुर्जर की बातों में आ गया। वह अपनी लग्जरी कार लेकर पहुंच गया। वहां बदमाशों ने योजना के मुताबिक मौके पर पहुंचे। कार का शीशा खटखटाया। तब मदन गुर्जर ने ज्योही कार का शीशा खोला। बदमाशों ने तुरंत अजय सिंह व मदन गुर्जर को अंदर धकेलते हुए बंधक बना लिया। फिर उनको अगवा करने का नाटक करते हुए दौसा तक ले गए।

इस बीच बदमाशों ने अजय सिंह के पेटीएम से 6 हजार रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करवा लिए। उन्होंने अजय से डेढ़ लाख रुपए भी मांगे। लेकिन उसने इंकार कर दिया। तब रात करीब 12 बजे अजय को दौसा में पटककर चले गए। तब अजय ने परिजनों से संपर्क किया। 29 दिसंबर को कानोता थाने में केस दर्ज करवाया।

पड़ताल में कॉल गर्ल बुलवाने व रुपयों के लेनदेन की बात सामने आई
एडिशनल डीसीपी अवनीश कुमार शर्मा के मुताबिक वारदात के बाद पुलिस की पड़ताल में कॉल गर्ल बुलाने और रुपयों के लेनदेन की बात सामने आई। इसके बाद मदन गुर्जर के मोबाइल कॉल डिटेल खंगाली। स्थानीय लोगों से पूछताछ में गांव के ही अन्य युवकों के भी गायब होने का पता चला। पुलिस को यह भी शक हुआ कि मदन गुर्जर को छोड़ने के लिए बदमाश पीड़ित सरपंच अजय सिंह की पत्नी के मोबाइल पर फोन कर पांच लाख रुपए की फिरौती क्यों मांग रहे है।

वे मदन गुर्जर के परिजनों को क्यों फोन नहीं कर रहे है। इन सब तथ्यों पर जांच के दौरान डीसीपी ऑफिस में सायबर सेल के कांस्टेबल विजय राठी ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने बदमाशों व मदन सिंह के यूपी में फर्रूखाबाद में होने की लोकेशन बताई। तब कानोता थानाप्रभारी अरुण पूनियां के नेतृत्व में गठित टीम ने गैंग को यूपी में जाकर धरदबोचा।

ये है अपहरण व लूट की साजिश में गिरफ्तार आरोपियों की गैंग
1. तालिब खान (24) निवासी पपड़ी थाना कायमगंज उतरप्रदेश हाल प्लॉट नंबर 8 मनुविहार, जामडोली थाना कानोता जयपुर
2. शिवदान सिंह गुर्जर (22) निवासी गांव मुंडकस्या थाना दौसा सदर हाल प्रताप नगर जयपुर
3. सुभाष गुर्जर (18) निवासी नीमाली थाना कोलवा तह दौसा जिला दौसा हाल मायापुरी कालोनी, जगतपुरा जयपुर
4. दिग्विजय सिंह (18) निवासी कुचामनसिंह रुपपुरा तह, नावा नागौर हाल ब्रजेश कॉलोनी जोधपुर हाल किरायेदार जामडोली जयपुर
5. मदन लाल गुर्जर (44) निवासी मुकन्दपुरा सुमेल थाना कानोता जयपुर

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*