SRN’s Dabang doctor slaps Wardboy, uproar, The case of the biggest hospital of Prayagraj, the nurse and the wardboy boycotted the work | प्रयागराज के सबसे बड़े अस्पताल का मामला, नर्स व वार्डब्वाय ने किया कार्य बहिष्कार

प्रयागराज23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डॉक्टर द्वारा वार्ड ब्वाय को थप्पड़ मारने और नर्सों के साथ बतमीजी करने के विरोध में एसआरएन अस्पताल में प्रदर्शन करतीं नर्सें।

प्रयागराज के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में एक दबंग डॉक्टर ने वार्डब्वाय को थप्पड़ मार दिया, इतना ही नहीं डॉक्टर नर्सों के साथ बदमीजी भी की। इससे नाराज वार्डब्वाय व नर्सों ने शनिवार को कार्य बहिष्कार कर हंगामा कर दिया। डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने व विभागीय कार्रवाई की मांग करते हुए जमकर नारेबाजी हुई। इससे मरीजों को इलाज में काफी असुविधा होने लगी। सूचना पर प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और 78 घंटे के अंदर डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। फिर जाकर नर्स व वार्डब्वाय काम पर लौटे। इससे करीब चार घंटे तक अस्पताल में अफरा तफरी जैसी स्थिति बनी रही।

नर्सों ने बताया कि वार्डब्वाय मयाराम अपनी ड्यूटी पर तैनात था तभी नशे में चूर सर्जन डॉ. मुकुल सिंह भी पहुंच गए और अकारण वार्डब्वाय को थप्पड़ मार दिए। नर्सों के साथ बदमीजी भी की। रात में नर्सें खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही हैं। नर्सों ने कहा कि यदि 78 घंटे के अंदर डॉक़्टर के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो वह फिर कार्य बहिष्कार को बाध्य होंगे।

राजेश यादव हत्याकांड में आरोपित थे डॉक्टर मुकुल

बता दें कि वार्डब्वाय को थप्पड़ मारने वाले डॉ. मुकुल सिंह बसपा नेता राजेश यादव हत्याकांड में भी आरोपित थे। अस्पताल के उप अधीक्षक गौतम त्रिपाठी के साथ भी मारपीट करने के मामले में मुकदमा दर्ज था। बताते हैं कि करीब 15 दिन पहले अस्पताल के ब्लड बैंक में तैनात एक लैब अटेंडेंट को पीटे थे। दबंग होने के कारण उनके उपर कोई कार्रवाई नहीं हो पाती है। लेकिन इस बार नर्सों ने कहा कि यदि डॉक्टर पर कार्रवाई नहीं होती है तो आंदोलन को बाध्य होंगी।

अस्पताल में बढ़ रहे हैं मरीज, लेकिन डॉक्टर बेलगाम

एसआरएन कोविड लेवल थ्री का अस्पताल बनाया गया है। यहां इन दिनों कोरोनेा मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है और ऐसे डॉक्टर द्वारा किया गया यह कृत्य कहीं न कहीं मरीजों पर असर डालेगा। इसके पहले भी इस अस्पताल में ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन मामला सिर्फ जांच तक ही सीमित रहता है।

खबरें और भी हैं…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*