Tablat – 101 दृष्टिबाधित छात्रों के सपनों को उड़ान देगा टैबलेट


ख़बर सुनें

101 दृष्टिबाधित छात्रों के सपनों को उड़ान देगा टैबलेट
– ऑडियो के रूप में मिलेगी शिक्षण सामग्री, सुगम पुस्तकालय से जुड़ सकेंगे
संवाद न्यूज एजेंसी
देवरिया। परिषदीय स्कूलों में अध्ययनरत कक्षा एक से तीन तक के 101 दृष्टिबाधित छात्र-छात्राओं के व्यक्तित्व विकास के लिए उन्हें टैबलेट जल्द देने की तैयारी है। ब्रेललिपी का बोझ अधिक होने के कारण यूनीसेफ संस्था की ओर से इसे लांच किया गया है। इसमें मौजूद ऑडियो शिक्षण सामग्री, एनसीईआरटी पर आधारित पाठ्यक्रम विद्यार्थियों के विकास में मददगार साबित होगी।
दृष्टिबाधित छात्रों को मुख्यमंत्री के हाथों 10 दिसंबर को टैबलेट दिलाने की योजना बनाई जा रही है। जिले को इसके लिए 101 टैबलेट मिले हैं। टैबलेट के जरिए इन छात्रों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी सुगम पुस्तकालय से भी जुड़ने का मौका मिलेगा। छात्र इसका कैसे प्रयोग करेंगे इसके लिए जिले में तैनात 16 स्पेशल एजुकेटरों को लखनऊ में विशेष रूप से प्रशिक्षित भी किया गया है। मंगलवार को बीएसए कार्यालय सभागार में टैबलेट के अपडेटेशन का कार्य स्पेशल एजुकेटर राजाराम दूबे, विजय यादव, शिखा मिश्रा, अखिलेश यादव, ओमकार पांडेय की ओर से किया गया।
टैबलेट की ये हैं खूबियां
छात्रों को दिए जाने वाले टैबलेट में की खास खूबी यह है कि यह ऑफलाइन भी काम करेगा। निरीक्षण के दौरान स्पेशल एजुकेटर इसे अपने मोबाइल से वाईफाई से जोड़कर नई शिक्षण सामग्री भी डाउनलोड कर दे सकेंगे। दो जीबी रैम, 32 जीबी इंटरनल मेमोरी, 20.32 सेमी डिस्प्ले, 32 जीबी का अलग से मेमोरी कार्ड, 5100 एमएएच की बैटरी इसमें लगी है। मूल्य करीब 16 हजार रुपये हैं।
परिषदीय स्कूलों में नामांकित दृष्टिबाधित छात्रों की जरूरतों को ध्यान में रखकर इस टैबलेट को बनाया गया है। इसे स्टार्ट करने पर ही संबंधित छात्र पाठ्यक्रम को सुनेगा और समझेगा। शासन के दिशा निर्देश के अनुसार शीघ्र ही इसे छात्रों में वितरित किया जाएगा। – ज्ञानेंद्र सिंह, जिला समन्वयक समेकित शिक्षा

101 दृष्टिबाधित छात्रों के सपनों को उड़ान देगा टैबलेट

– ऑडियो के रूप में मिलेगी शिक्षण सामग्री, सुगम पुस्तकालय से जुड़ सकेंगे

संवाद न्यूज एजेंसी

देवरिया। परिषदीय स्कूलों में अध्ययनरत कक्षा एक से तीन तक के 101 दृष्टिबाधित छात्र-छात्राओं के व्यक्तित्व विकास के लिए उन्हें टैबलेट जल्द देने की तैयारी है। ब्रेललिपी का बोझ अधिक होने के कारण यूनीसेफ संस्था की ओर से इसे लांच किया गया है। इसमें मौजूद ऑडियो शिक्षण सामग्री, एनसीईआरटी पर आधारित पाठ्यक्रम विद्यार्थियों के विकास में मददगार साबित होगी।

दृष्टिबाधित छात्रों को मुख्यमंत्री के हाथों 10 दिसंबर को टैबलेट दिलाने की योजना बनाई जा रही है। जिले को इसके लिए 101 टैबलेट मिले हैं। टैबलेट के जरिए इन छात्रों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की लाइब्रेरी सुगम पुस्तकालय से भी जुड़ने का मौका मिलेगा। छात्र इसका कैसे प्रयोग करेंगे इसके लिए जिले में तैनात 16 स्पेशल एजुकेटरों को लखनऊ में विशेष रूप से प्रशिक्षित भी किया गया है। मंगलवार को बीएसए कार्यालय सभागार में टैबलेट के अपडेटेशन का कार्य स्पेशल एजुकेटर राजाराम दूबे, विजय यादव, शिखा मिश्रा, अखिलेश यादव, ओमकार पांडेय की ओर से किया गया।

टैबलेट की ये हैं खूबियां

छात्रों को दिए जाने वाले टैबलेट में की खास खूबी यह है कि यह ऑफलाइन भी काम करेगा। निरीक्षण के दौरान स्पेशल एजुकेटर इसे अपने मोबाइल से वाईफाई से जोड़कर नई शिक्षण सामग्री भी डाउनलोड कर दे सकेंगे। दो जीबी रैम, 32 जीबी इंटरनल मेमोरी, 20.32 सेमी डिस्प्ले, 32 जीबी का अलग से मेमोरी कार्ड, 5100 एमएएच की बैटरी इसमें लगी है। मूल्य करीब 16 हजार रुपये हैं।

परिषदीय स्कूलों में नामांकित दृष्टिबाधित छात्रों की जरूरतों को ध्यान में रखकर इस टैबलेट को बनाया गया है। इसे स्टार्ट करने पर ही संबंधित छात्र पाठ्यक्रम को सुनेगा और समझेगा। शासन के दिशा निर्देश के अनुसार शीघ्र ही इसे छात्रों में वितरित किया जाएगा। – ज्ञानेंद्र सिंह, जिला समन्वयक समेकित शिक्षा

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*