Accident – एक बाइक से जा रहे थे तीन युवक, हादसे में एक की मौत


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
रुद्रपुर। जमुनही गांव निवासी एक युवक की शुक्रवार रात सड़क हादसे में मौत हो गई। वह दो अन्य साथियों के साथ बाइक से तिलक समारोह में जा रहा था। हादसा पूर्वी बाईपास पर हुआ। पुलिस के अनुसार, किसी भी बाइक सवार ने हेलमेट नहीं लगा रखा था।
शुक्रवार रात आठ बजे जमुनही निवासी रघुवीर मिश्र का बेटा संपूर्णानंद उर्फ शुभम (18) अपने दो अन्य साथियों के साथ तिलक समारोह में बाइक से जा रहा था। पूर्वी बाईपास पर अज्ञात चार पहिया वाहन ने बाइक सवारों को चपेट में ले लिया। इससे बाइक चला रहे शुभम गंभीर रूप से घायल हो गए। पीछे बैठे दो साथी पुआल पर जा गिरे। इससे उन्हें हल्की चोट आई। शुभम के सिर में गंभीर चोट आने से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने हालत नाजुक देख मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज ले जाते समय उसकी रास्ते में मौत हो गई। परिजनों ने शव को घर लाकर शनिवार सुबह दाह संस्कार कर दिए। रघुवीर के चार पुत्रों में शुभम तीसरे नंबर का था। 12वीं पास करने के बाद वह सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहा था। शुभम की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। मां सुमन मिश्रा का रो-रो कर बुरा हाल है। शुभम सतासी इंटर कॉलेज में एनसीसी का बेस्ट कैडेट रह चुका था। कॉलेज के पूर्व छात्र की मौत की सूचना पर स्कूल के स्टॉफ और बच्चों में शोक की लहर दौड़ गई। कॉलेज के मैदान पर सेना भर्ती की तैयारी करने वाले शुभम के साथी भी उनकी सड़क हादसे में मौत से दुखी दिखे।

संवाद न्यूज एजेंसी

रुद्रपुर। जमुनही गांव निवासी एक युवक की शुक्रवार रात सड़क हादसे में मौत हो गई। वह दो अन्य साथियों के साथ बाइक से तिलक समारोह में जा रहा था। हादसा पूर्वी बाईपास पर हुआ। पुलिस के अनुसार, किसी भी बाइक सवार ने हेलमेट नहीं लगा रखा था।

शुक्रवार रात आठ बजे जमुनही निवासी रघुवीर मिश्र का बेटा संपूर्णानंद उर्फ शुभम (18) अपने दो अन्य साथियों के साथ तिलक समारोह में बाइक से जा रहा था। पूर्वी बाईपास पर अज्ञात चार पहिया वाहन ने बाइक सवारों को चपेट में ले लिया। इससे बाइक चला रहे शुभम गंभीर रूप से घायल हो गए। पीछे बैठे दो साथी पुआल पर जा गिरे। इससे उन्हें हल्की चोट आई। शुभम के सिर में गंभीर चोट आने से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने हालत नाजुक देख मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज ले जाते समय उसकी रास्ते में मौत हो गई। परिजनों ने शव को घर लाकर शनिवार सुबह दाह संस्कार कर दिए। रघुवीर के चार पुत्रों में शुभम तीसरे नंबर का था। 12वीं पास करने के बाद वह सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहा था। शुभम की मौत से परिवार में कोहराम मच गया। मां सुमन मिश्रा का रो-रो कर बुरा हाल है। शुभम सतासी इंटर कॉलेज में एनसीसी का बेस्ट कैडेट रह चुका था। कॉलेज के पूर्व छात्र की मौत की सूचना पर स्कूल के स्टॉफ और बच्चों में शोक की लहर दौड़ गई। कॉलेज के मैदान पर सेना भर्ती की तैयारी करने वाले शुभम के साथी भी उनकी सड़क हादसे में मौत से दुखी दिखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *