Achala Sachdev had become lonely after the death of her husband, son also did not take care of her,know her painful story | पति की मौत के बाद अकेली हो गई थीं अचला सचदेव, बेटे ने भी नहीं ली सुध, कंगाली में कटा आखिरी दौर और फिर हो गई थी मौत”Deoria 24 News”

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ (1995) में सिमरन यानी काजोल की दादी और कई फिल्मों में मां के रोल में नजर आईं अचला सचदेव की हाल ही में बर्थ एनिवर्सरी थी। उनका जन्म 3 मई 1920 को पेशावर, पाकिस्तान में हुआ था। 30 अप्रैल 2012 को अकेलेपन से जूझते हुए पुणे के एक अस्पताल में उनका निधन हुआ। इस दौरान यूएस में रह रहे बेटे ज्योतिन ने भी उनकी कोई सुध नहीं ली।

पति की मौत के बाद अकेली हो गई थीं अचला
अचला को फिल्म ‘वक्त’ (1965) के लिए भी जाना जाता है। इस फिल्म में उन्होंने बलराज साहनी की पत्नी का रोल किया था। अचला और बलराज पर फिल्माया गया सॉन्ग ‘ऐ मेरी जोहरा जबीं’ इतना पॉपुलर हुआ था कि आज भी लोगों की जुबान पर है। 2002 में अचला के पति क्लिफर्ड डगलस पीटर्स की डेथ हो गई। इसके बाद 12 साल तक वे पुणे में पूना क्लब के पास कोणार्क एस्टेट अपार्टमेंट के दो बेडरूम फ़्लैट में अकेली ही रहती रहीं। इस दौरान सिर्फ रात में एक अटेंडेंट वहां रहकर उनकी देखभाल करता था।

जब किचन में गिरीं अचला और पहुंच गईं हॉस्पिटल
8 सितंबर 2011 की बात है, जब अचला किचन में पानी लेने गई थीं। इस दौरान वे गिर गईं और उनकी जांघ की हड्डी टूट गई। उन्हें पूना हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में एडमिट कराया गया। लेकिन जल्दी ही डिस्चार्ज भी कर दिया गया। इसके बाद अचला के ब्रेन में खून के थक्के जमने की बात सामने आई, क्वाड्रिप्लेजिया (एक तरह का लकवा) के सिंप्टम्स थे। 21 अक्टूबर 2011 को अचला को फिर से ट्रीटमेंट के लिए पूना हॉस्पिटल में एडमिट कराना पड़ा था। काफी समय तक अस्पताल में एडमिट रहने के बाद 91 साल की उम्र म अचला ने 30 अप्रैल 2012 को दम तोड़ दिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अचला ने जिंदगी का अंतिम दौर बेहद तंगहाली में काटा था।

अमिताभ ने दी थी श्रद्धांजलि
अचला के साथ ‘कभी खुशी कभी गम’ में काम कर चुके अमिताभ ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए सोशल मीडिया पर लिखा था, “अचला सचदेव जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ। वह निजी जीवन में बेहद संजीदा और सौम्य महिला थीं। मैं उनकी आत्म की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं।”

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *