Allegation On Lekhpals – फसल क्षतिपूर्ति का आकलन न करने का लेखपालों पर आरोप


allegation on lekhpals

ख़बर सुनें

फसल क्षतिपूर्ति का आकलन न करने का लेखपालों पर आरोप
जल्द फसल क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं हुआ तो धरना देंगे किसान
संवाद न्यूज एजेंसी
लार। अतिवृष्टि होने से खरीफ की फसल खराब हो गई है। वहीं, कुछ फसल अभी बारिश के पानी से घिरी हुई है। धान की फसल जमींदोज हो गई है। ऐसे में किसान चिंतित हैं। आरोप है कि क्षेत्र के लेखपाल फसल क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं कर रहे हैं। ताकि उन्हें नुकसान हुई फसल के बदले उचित मुआवजा मिल सके।
पिछले एक पखवारे पूर्व हुई आंधी पानी व बारिश से धान की फसल नुकसान हो गई है। खेतों में अब भी पानी है। खरीफ की फसलें आपदा की भेंट चढ़ गए। आरोप है कि इसके बावजूद क्षेत्र के लेखपाल बर्बाद हुई फसलों के क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं कर रहे हैं। इस बात से नाराज किसान रामअवध यादव, रीना देवी, लालजी, अशोक सिंह, धर्मेंद्र ,गोपाल, जयपाल, सुनील, जंगबहादुर, प्रवीण, रामाशीष, रामप्रवेश, अवधेश, राजेंद्र, बंका, शिवमंगल, कृष्ण विश्वकर्मा, भृगुनाथ, छेदी, केशव, बीरेंद्र, हरेन्द्र, सतेन्द्र कुमार, शिवकुमार आदि ने कहा कि अगर लेखपाल नुकसान हुई फसलों का आकलन जल्द कर तहसील प्रशासन को नहीं भेजते हैं तो धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे। उधर, भाजपा नेता चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि ब्लॉक के सभी गांवों में बर्बाद हुई फसल का आकलन जल्द नहीं हुआ तो एक सप्ताह के अंदर अनशन पर बैठेंगे।

फसल क्षतिपूर्ति का आकलन न करने का लेखपालों पर आरोप

जल्द फसल क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं हुआ तो धरना देंगे किसान

संवाद न्यूज एजेंसी

लार। अतिवृष्टि होने से खरीफ की फसल खराब हो गई है। वहीं, कुछ फसल अभी बारिश के पानी से घिरी हुई है। धान की फसल जमींदोज हो गई है। ऐसे में किसान चिंतित हैं। आरोप है कि क्षेत्र के लेखपाल फसल क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं कर रहे हैं। ताकि उन्हें नुकसान हुई फसल के बदले उचित मुआवजा मिल सके।

पिछले एक पखवारे पूर्व हुई आंधी पानी व बारिश से धान की फसल नुकसान हो गई है। खेतों में अब भी पानी है। खरीफ की फसलें आपदा की भेंट चढ़ गए। आरोप है कि इसके बावजूद क्षेत्र के लेखपाल बर्बाद हुई फसलों के क्षतिपूर्ति का आकलन नहीं कर रहे हैं। इस बात से नाराज किसान रामअवध यादव, रीना देवी, लालजी, अशोक सिंह, धर्मेंद्र ,गोपाल, जयपाल, सुनील, जंगबहादुर, प्रवीण, रामाशीष, रामप्रवेश, अवधेश, राजेंद्र, बंका, शिवमंगल, कृष्ण विश्वकर्मा, भृगुनाथ, छेदी, केशव, बीरेंद्र, हरेन्द्र, सतेन्द्र कुमार, शिवकुमार आदि ने कहा कि अगर लेखपाल नुकसान हुई फसलों का आकलन जल्द कर तहसील प्रशासन को नहीं भेजते हैं तो धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे। उधर, भाजपा नेता चंद्रभूषण सिंह ने कहा कि ब्लॉक के सभी गांवों में बर्बाद हुई फसल का आकलन जल्द नहीं हुआ तो एक सप्ताह के अंदर अनशन पर बैठेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *