Atewa – अटेवा ने निकाली निजीकरण भारत छोड़ो पदयात्रा


atewa

ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
देवरिया। आल टीचर्स इंप्लाई वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) के बैनर तले शिक्षक-कर्मचारियों ने सुभाष चौक से शुक्रवार को निजीकरण भारत छोड़ो पदयात्रा निकाली। पदयात्रा में शामिल लोग एनपीएस, निजीकरण भारत छोड़ो, पुरानी पेंशन बहाल करो, सरकारी उपक्रमों को बेचना बंद करो, अभी तो यह अंगड़ाई है आगे और लड़ाई है आदि नारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे थे। कलेक्ट्रेट पहुंचकर शिक्षकों-कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।
अटेवा के जिला संयोजक जयप्रकाश कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु के आह्वान पर पदयात्रा का आयोजन हुआ। पुरानी पेंशन बहाली शिक्षक-कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए गंभीर मुद्दा है। नई पेंशन नीति से इनका भविष्य अंधकारमय हो गया है। बीएसएनएल, रेलवे, एयरपोर्ट सभी का निजीकरण किया जा रहा है। इसलिए यह संघर्ष जरूरी है। मंडलीय संगठन मंत्री मदन सिंह पटेल ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली शिक्षक, कर्मचारी और अधिकारियों के लिए जीवन मरण का प्रश्न बन गया है। वर्तमान में जो माननीय सत्ता पर काबिज हैं उन्हें सरकार को पत्र लिखकर पुरानी पेंशन की बहाली के लिए पहल करनी चाहिए। इस दौरान अनिल कुुमार भारती, विजय प्रताप सिंह, नागेश पति त्रिपाठी, नर्वदेश्वर मिश्र, नवनाथ प्रसाद, राजेंद्र शुक्ल, रामप्रवेश यादव, सुरेश सिंह, अनूप कुमार मौर्य, जितेंद्र कुमार विश्वकर्मा, विपिन दुबे, प्रमोद कुमार, दिनेश कुमार गुप्ता आदि मौजूद रहे।

संवाद न्यूज एजेंसी

देवरिया। आल टीचर्स इंप्लाई वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) के बैनर तले शिक्षक-कर्मचारियों ने सुभाष चौक से शुक्रवार को निजीकरण भारत छोड़ो पदयात्रा निकाली। पदयात्रा में शामिल लोग एनपीएस, निजीकरण भारत छोड़ो, पुरानी पेंशन बहाल करो, सरकारी उपक्रमों को बेचना बंद करो, अभी तो यह अंगड़ाई है आगे और लड़ाई है आदि नारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे थे। कलेक्ट्रेट पहुंचकर शिक्षकों-कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

अटेवा के जिला संयोजक जयप्रकाश कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार बंधु के आह्वान पर पदयात्रा का आयोजन हुआ। पुरानी पेंशन बहाली शिक्षक-कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए गंभीर मुद्दा है। नई पेंशन नीति से इनका भविष्य अंधकारमय हो गया है। बीएसएनएल, रेलवे, एयरपोर्ट सभी का निजीकरण किया जा रहा है। इसलिए यह संघर्ष जरूरी है। मंडलीय संगठन मंत्री मदन सिंह पटेल ने कहा कि पुरानी पेंशन की बहाली शिक्षक, कर्मचारी और अधिकारियों के लिए जीवन मरण का प्रश्न बन गया है। वर्तमान में जो माननीय सत्ता पर काबिज हैं उन्हें सरकार को पत्र लिखकर पुरानी पेंशन की बहाली के लिए पहल करनी चाहिए। इस दौरान अनिल कुुमार भारती, विजय प्रताप सिंह, नागेश पति त्रिपाठी, नर्वदेश्वर मिश्र, नवनाथ प्रसाद, राजेंद्र शुक्ल, रामप्रवेश यादव, सुरेश सिंह, अनूप कुमार मौर्य, जितेंद्र कुमार विश्वकर्मा, विपिन दुबे, प्रमोद कुमार, दिनेश कुमार गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *