Cm,death – पति की मौत के मामले में पुत्रों के खिलाफ सीएम से शिकायत


ख़बर सुनें

एसओ बोले, केस दर्ज कर की जा रही है विवेचना
संवाद न्यूूज एजेंसी
बनकटा। कुरमौली गांव की एक वृद्ध महिला ने अपने दोनों पुत्रों के खिलाफ मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर पति की मौत के मामले में कार्रवाई की मांग की है।
शिकायती पत्र में राजकिशोरी देवी ने कहा है कि 16 अक्टूबर को उनके पति महावीर लाल श्रीवास्तव खेत की निगरानी करने जा रहे थे। तभी पहले से घात लगाए उनके दो पुत्रों ने पति पर हमला कर दिया।
पिटाई से पति महावीर को खून के साथ उलटी होने लगी। उन्हें मरा समझ कर दोनों वहां से चले गए। शोर होने पर गांव के लोगों ने पुलिस को फोन किया। हालांकि पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। घायलावस्था में पति को भाटपार रानी इलाज के लिए ले जाया गया, यहां से देवरिया रेफर कर दिया गया। सुधार नहीं होने पर कुछ दिन बाद उन्हें गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 16 नवंबर को इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई। राजकिशोरी ने अब मुख्यमंत्री को पोर्टल के माध्यम से शिकायत कर अपने पुत्रों के खिलाफ कड़ी सजा देने की मांग की है। महिला ने शिकायत की प्रति एसपी और एसओ को भी भेजा है। शुक्रवार को कार्यभार ग्रहण करने के बाद एसओ विपिन मलिक ने कहा है कि महिला की तहरीर पर केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।
जमीन बैनामा करने के कारण नाराज थे पुत्र
महावीर ने अपना कुछ जमीन बैनामा कर दिया था। इससे उनके पुत्र नाराज थे। एक पुत्र ने इसके संबंध में राज्यपाल से शिकायत कर बहला फुसलाकर जमीन बैनामा कराने का आरोप लगाया था। जवाब में महावीर ने 12 बिंदुओं का एक आवेदन राज्यपाल को भेजकर कहा था कि पत्नी हमेशा गंभीर बीमारी से पीड़ित रहती हैं।पत्नी के इलाज को लेकर काफी कर्ज होने की बात कही थी। उन्होंने लिखा था कि उनका पुत्र कभी भी किसी प्रकार की मदद नहीं करते हैं। हमेशा हमारे नाम की संपत्ति अपने नाम से कराने एवं हड़पने की साजिश की जाती रही है। उन्होंने अपने एक पुत्र से जानमाल के खतरे की आशंका भी जताई थी। इसी तरह का एक आवेदन उन्होंने सहायक महानिरीक्षक निबंधन देवरिया को देकर कर्ज की वजह से जमीन बेचने की बात कही थी।

एसओ बोले, केस दर्ज कर की जा रही है विवेचना

संवाद न्यूूज एजेंसी

बनकटा। कुरमौली गांव की एक वृद्ध महिला ने अपने दोनों पुत्रों के खिलाफ मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर पति की मौत के मामले में कार्रवाई की मांग की है।

शिकायती पत्र में राजकिशोरी देवी ने कहा है कि 16 अक्टूबर को उनके पति महावीर लाल श्रीवास्तव खेत की निगरानी करने जा रहे थे। तभी पहले से घात लगाए उनके दो पुत्रों ने पति पर हमला कर दिया।

पिटाई से पति महावीर को खून के साथ उलटी होने लगी। उन्हें मरा समझ कर दोनों वहां से चले गए। शोर होने पर गांव के लोगों ने पुलिस को फोन किया। हालांकि पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। घायलावस्था में पति को भाटपार रानी इलाज के लिए ले जाया गया, यहां से देवरिया रेफर कर दिया गया। सुधार नहीं होने पर कुछ दिन बाद उन्हें गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। 16 नवंबर को इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई। राजकिशोरी ने अब मुख्यमंत्री को पोर्टल के माध्यम से शिकायत कर अपने पुत्रों के खिलाफ कड़ी सजा देने की मांग की है। महिला ने शिकायत की प्रति एसपी और एसओ को भी भेजा है। शुक्रवार को कार्यभार ग्रहण करने के बाद एसओ विपिन मलिक ने कहा है कि महिला की तहरीर पर केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

जमीन बैनामा करने के कारण नाराज थे पुत्र

महावीर ने अपना कुछ जमीन बैनामा कर दिया था। इससे उनके पुत्र नाराज थे। एक पुत्र ने इसके संबंध में राज्यपाल से शिकायत कर बहला फुसलाकर जमीन बैनामा कराने का आरोप लगाया था। जवाब में महावीर ने 12 बिंदुओं का एक आवेदन राज्यपाल को भेजकर कहा था कि पत्नी हमेशा गंभीर बीमारी से पीड़ित रहती हैं।पत्नी के इलाज को लेकर काफी कर्ज होने की बात कही थी। उन्होंने लिखा था कि उनका पुत्र कभी भी किसी प्रकार की मदद नहीं करते हैं। हमेशा हमारे नाम की संपत्ति अपने नाम से कराने एवं हड़पने की साजिश की जाती रही है। उन्होंने अपने एक पुत्र से जानमाल के खतरे की आशंका भी जताई थी। इसी तरह का एक आवेदन उन्होंने सहायक महानिरीक्षक निबंधन देवरिया को देकर कर्ज की वजह से जमीन बेचने की बात कही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *