Crimination – आरोपित के घर के बाहर शव रखकर अंतिम संस्कार से किया इनकार


ख़बर सुनें

आरोपित के घर के बाहर शव रखकर अंतिम संस्कार से किया इनकार
पुलिस मनाने में जुटी, दोस्त के बुलाने गए किशोर की संदिग्ध परिस्थिति में शुक्रवार शाम को हुई है मौत
संवाद न्यूज एजेंसी
प्रतापपुर। बनकटा थाना क्षेत्र के बतरौली गांव निवासी नितेश (15) की शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम के बाद शनिवार को शव घर पहुंचा। गुस्साए परिजनों ने आरोपित के घर के बाहर शव रखकर अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया। आरोपित पर केस दर्ज करने की मांग करने लगे। सूचना पर सीओ पंचम लाल पहुंचे और लोगों को समझाने में जुट गए। उन्होंने मामले की जांच कराने के निर्देश दिए हैं। इसके बावजूद परिजन जिद पर अड़े हुए हैं।
रामजी गोंड के बड़े पुत्र नितेश को शुक्रवार को गांव का उसका एक दोस्त दो अन्य दोस्तों के साथ बुलाकर टेंट की दुकान बतरौली पर ले गया था। तीन घंटे बाद आरोपी युवक ने नितेश के घर जाकर बताया कि नितेश की तबीयत खराब हो गई है। आनन-फानन घर के लोग पहुंचे तो नितेश अचेत मिला। पीएचसी से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजन उसे समीप के बिहार प्रांत के मैरवा स्थित सरकारी अस्पताल ले गए, वहां चिकित्सकों ने नितेश को मृत घोषित कर दिया। परिजनों की मांग पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इनकार करते हुए शव को आरोपी युवक के दरवाजे पर रख दिया और कार्रवाई की मांग करने लगे। नितेश दो भाइयों में बड़ा था। उसकी मौत के बाद मां दुलारी देवी का रो-रो कर बुरा हाल है। एसओ घनश्याम सिंह ने बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज करने के लिए परिजनों ने तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

आरोपित के घर के बाहर शव रखकर अंतिम संस्कार से किया इनकार

पुलिस मनाने में जुटी, दोस्त के बुलाने गए किशोर की संदिग्ध परिस्थिति में शुक्रवार शाम को हुई है मौत

संवाद न्यूज एजेंसी

प्रतापपुर। बनकटा थाना क्षेत्र के बतरौली गांव निवासी नितेश (15) की शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम के बाद शनिवार को शव घर पहुंचा। गुस्साए परिजनों ने आरोपित के घर के बाहर शव रखकर अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया। आरोपित पर केस दर्ज करने की मांग करने लगे। सूचना पर सीओ पंचम लाल पहुंचे और लोगों को समझाने में जुट गए। उन्होंने मामले की जांच कराने के निर्देश दिए हैं। इसके बावजूद परिजन जिद पर अड़े हुए हैं।

रामजी गोंड के बड़े पुत्र नितेश को शुक्रवार को गांव का उसका एक दोस्त दो अन्य दोस्तों के साथ बुलाकर टेंट की दुकान बतरौली पर ले गया था। तीन घंटे बाद आरोपी युवक ने नितेश के घर जाकर बताया कि नितेश की तबीयत खराब हो गई है। आनन-फानन घर के लोग पहुंचे तो नितेश अचेत मिला। पीएचसी से उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। परिजन उसे समीप के बिहार प्रांत के मैरवा स्थित सरकारी अस्पताल ले गए, वहां चिकित्सकों ने नितेश को मृत घोषित कर दिया। परिजनों की मांग पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने अंतिम संस्कार करने से इनकार करते हुए शव को आरोपी युवक के दरवाजे पर रख दिया और कार्रवाई की मांग करने लगे। नितेश दो भाइयों में बड़ा था। उसकी मौत के बाद मां दुलारी देवी का रो-रो कर बुरा हाल है। एसओ घनश्याम सिंह ने बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज करने के लिए परिजनों ने तीन लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *