Death – तालाब में स्नान करने गए शख्स की मौत


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
लार/सुतावर। तालाब में स्नान कर रहा एक शख्स लापता हो गया। पुलिस ने मछुआरों की मदद से दो घंटे बाद उसे खोज निकाला। परिजन उसे सीएचसी लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सक ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही कोहराम मच गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
लार थाना क्षेत्र के चौरडीहा गांव निवासी चंद्रमोहन प्रसाद गुड्डू (50) गांव पर ही रह कर ट्रैक्टर चला कर परिवार का भरण-पोषण करते थे। सोमवार को वह गांव के पश्चिम स्थित शिव मंदिर के पोखरे में स्नान करने की बात कह घर से निकले। स्नान के दौरान वह डूबने लगे। यह देख समीप के दुकानदारों ने शोर मचाया। जब तक लोग पहुंचते तब तक वह लापता गए। गांव के कुछ युवकों ने तालाब तलाश शुरू की, लेकिन सफलता नहीं मिली। सूचना पर पहुंचे एसओ राममोहन सिंह ने मछुआरों को बुलाकर दो घंटे की मशक्कत के बाद लापता शख्स तालाब से खोज निकाला। बेटे के मौत की खबर मिलते ही मां सरस्वती देवी बदहवास हो गई। मृत शख्स की एक बेटी अमीषा कुमारी व बेटा अमेश कुमार हैं। पत्नी विंदा की मौत लगभग बारह वर्ष पूर्व हो चुकी है। पिता की मौत की खबर मिलते ही अमेश कानपुर से गांव के लिए रवाना हो गया। इस बाबत एसओ ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।
पापा हमार बतिया ना मनुवन…
लार। चंद्रमोहन की पत्नी की मौत बारह वर्ष पूर्व हो गई थी। बेटी अमीषा और दादी दोनों छोटे भाई अमेश की देख रेख करती थीं। पिता भी दोनों को काफी दुलारते थे। घटना के बाद अमीषा बदहवास हो गई। होश आने पर रोते हुए कह रही थी कि पापा जब नहाए जात रहुवन त हम मना कईनी, बाकी उ बात ना मनुवन। अगर बात मनले रहितें त आज ई दिन ना देखे के पड़ित, यह सुन मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं।

संवाद न्यूज एजेंसी

लार/सुतावर। तालाब में स्नान कर रहा एक शख्स लापता हो गया। पुलिस ने मछुआरों की मदद से दो घंटे बाद उसे खोज निकाला। परिजन उसे सीएचसी लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सक ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर मिलते ही कोहराम मच गया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

लार थाना क्षेत्र के चौरडीहा गांव निवासी चंद्रमोहन प्रसाद गुड्डू (50) गांव पर ही रह कर ट्रैक्टर चला कर परिवार का भरण-पोषण करते थे। सोमवार को वह गांव के पश्चिम स्थित शिव मंदिर के पोखरे में स्नान करने की बात कह घर से निकले। स्नान के दौरान वह डूबने लगे। यह देख समीप के दुकानदारों ने शोर मचाया। जब तक लोग पहुंचते तब तक वह लापता गए। गांव के कुछ युवकों ने तालाब तलाश शुरू की, लेकिन सफलता नहीं मिली। सूचना पर पहुंचे एसओ राममोहन सिंह ने मछुआरों को बुलाकर दो घंटे की मशक्कत के बाद लापता शख्स तालाब से खोज निकाला। बेटे के मौत की खबर मिलते ही मां सरस्वती देवी बदहवास हो गई। मृत शख्स की एक बेटी अमीषा कुमारी व बेटा अमेश कुमार हैं। पत्नी विंदा की मौत लगभग बारह वर्ष पूर्व हो चुकी है। पिता की मौत की खबर मिलते ही अमेश कानपुर से गांव के लिए रवाना हो गया। इस बाबत एसओ ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

पापा हमार बतिया ना मनुवन…

लार। चंद्रमोहन की पत्नी की मौत बारह वर्ष पूर्व हो गई थी। बेटी अमीषा और दादी दोनों छोटे भाई अमेश की देख रेख करती थीं। पिता भी दोनों को काफी दुलारते थे। घटना के बाद अमीषा बदहवास हो गई। होश आने पर रोते हुए कह रही थी कि पापा जब नहाए जात रहुवन त हम मना कईनी, बाकी उ बात ना मनुवन। अगर बात मनले रहितें त आज ई दिन ना देखे के पड़ित, यह सुन मौजूद लोगों की आंखें नम हो गईं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *