“Deoria 24 News” Agra Coronavirus Case Latest Update । UP Police Sub Inspector Son Help In Agra | इंटरनेशनल क्रिकेट प्रसारण कर विदेश से लौटे बेटे को दरोगा पिता ने ऐसा दिया काम, पूरे शहर में हो गया नाम

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आगराएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
मनीष 20 मई को दुबई चले जाएंगे। उनका कहना है कि उनकी मदद का कारवां थमेगा नहीं। वे वहां से आर्थिक मदद करते रहेंगे। - Dainik Bhaskar

मनीष 20 मई को दुबई चले जाएंगे। उनका कहना है कि उनकी मदद का कारवां थमेगा नहीं। वे वहां से आर्थिक मदद करते रहेंगे।

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले में तैनात एक दरोगा अपने बेटे के साथ कोविड-19 महामारी के दौर में जरूरतमंदों का अपने खर्च पर पेट भर रहे हैं। दरअसल, बेटा एक स्पोर्ट्स चैनल के लिए काम करता है। वह इंटरनेशनल मैचों के प्रसारण के सिलसिले में साल में 10 महीने विदेश में रहता है। लेकिन कोरोना काल में जब वह घर लौटा तो ऊबने लगा। ऐसे में दरोगा पिता ने उसे लॉकडाउन में लोगों की भूख मिटाने का काम दे दिया। दरोगा के अनुसार बीते साल लाॅकडाउन में लोगों को भोजन आदि के लिए परेशान देखकर मन में टीस रहती थी। इसलिए उन्होंने यह काम शुरू किया। दोनों ने इस काम में अभी तक किसी का कोई आर्थिक सहयोग नहीं लिया गया है।

उत्तर प्रदेश पुलिस में उपनिरीक्षक के पद पर तैनात शैलेंद्र सिंह यादव वर्तमान में सेंट्रल जेल चौकी पर तैनात हैं। उनके दो पुत्र मनीष और निशांत यादव हैं। मनीष काफी सालों से स्टार स्पोर्ट्स और अन्य खेल चैनलों के लिए प्रसारण टीम में काम करते हैं। मनीष छुट्टी के दौरान आगरा आए और कोविड 19 के चलते उन्हें घर पर रहना पड़ा। खाली बैठकर ऊबने पर उन्होंने पिता से बात कर कुछ काम करने के लिए कहा। इस पर पिता ने उन्हें लॉकडाउन के दौरान भोजन के लिए परेशान होने वाले लोगों की मदद को प्रेरित किया तो मनीष ने पिता शैलेंद्र और भाई निशांत के साथ मिलकर लोगों की मदद शुरू कर दी।

रोजाना 20 हजार का खर्च पर नहीं लेते सहयोग

मनीष रोजाना चार गाड़ियों से शहर में अलग-अलग पॉइंट्स पर जाकर भूखों को भोजन-पानी की व्यवस्था करते हैं। आईएसबीटी, भगवान टॉकीज चौराहा, रामबाग, खेरिया मोड़, सभी ऑक्सीजन प्लांट पर तीमारदारों को, मेडिकल काॅलेज के आसपास सहित जहां भी जानकारी मिलती है, गाड़ी से जाकर लोगों की सेवा कर रहे हैं। इसके लिए एक हलवाई लगाया गया है। हलवाई के छुट्टी करने पर पहले से सूखे राशन की व्यवस्था रहती है। तमाम बस्तियों में पानी की व्यवस्था भी इनके द्वारा की जा रही है।

डायल 100 की ड्यूटी के दौरान पिता ने करीब से देखी थी परेशानियां

दरोगा शैलेंद्र पिछले वर्ष डायल 100 में तैनात थे। इस दौरान उन्होंने जगह-जगह लोगों को भोजन के लिए तरसते देखा, काफी जगह उन्होंने खुद भी लोगों की मदद की। इस बार जब उन्हें मौका मिला तो जनसेवा शुरू कर दी।

जरूरतमंदों के लिए भोजन मुहैया कराती मनीष की टीम।

जरूरतमंदों के लिए भोजन मुहैया कराती मनीष की टीम।

कुछ ही दिन में बढ़ गया कारवां

24 अप्रैल से जनसेवा शुरू करने के बाद अब तीन एक्स सर्विस मैन जितेंद्र चाहर, नरेंद्र चाहर, दरियाब चौधरी, यशपाल चौधरी आदि भी जुड़ गए हैं। मनीष ने बताया की वो 20 मई को दुबई चले जाएंगे पर अपनी ओर से आर्थिक सहयोग करते रहेंगे और बाकी लोग इस मुहिम को आगे जारी रखेंगे।

“मास्क अप इंडिया” कैम्पेन की हो रही तारीफ

मनीष द्वारा फेसबुक पर मास्क अप इंडिया नाम से कैम्पेन शुरू किया गया था और इसे साकार करने के लिए एक वाहन रोजाना शहर में घूमता है और मास्क न पहनने वालों को रोककर समझाकर मास्क पहनाता है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *