“Deoria 24 News” Uttar Pradesh Panchayat Election results 2021 Ruckus over demand for re counting in Azamgarh – उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव : आजमगढ़ में दोबारा मतगणना की मांग पर बवाल, पथराव-हवाई फायरिंग

वोटों की दोबारा गिनती की मांग पर बवाल हो गया. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • रिकाउंटिंग की मांग पर बवाल
  • एसपी की गाड़ी का शीशा टूटा
  • लाठीचार्ज में 1 दर्जन लोग घायल

आजमगढ़:

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Panchayat Elections 2021) के आजमगढ़ जिले के जहानागंज क्षेत्र में जिला पंचायत क्षेत्र धरवारा के लिए पड़े मतों की दोबारा गणना कराने की मांग को लेकर गोधौरा अनुसूचित जाति की बस्ती के लोगों ने मंगलवार दोपहर ब्लॉक मुख्यालय पर प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिस (UP Police) ने एक युवक की पिटाई कर दी. इसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा सड़क पर आ गया. पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया, जिसमें एक दर्जन ग्रामीण घायल हो गए. यह खबर बस्ती में पहुंची तो महिलाएं भी सड़क पर आ गईं और जमकर बवाल हुआ.

यह भी पढ़ें

पुलिस के लाठीचार्ज के जवाब में ग्रामीणों ने भी ईंट-पत्थर चलाना शुरू किया और गांव के पास शाम चार बजे तक सड़क जाम कर दी. वे घंटे भर बाद भी नहीं हटे तो पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा. उसके बाद ग्रामीण तो सड़क से हट गए लेकिन खेतों में पहुंचकर मोर्चाबंदी कर दी. शाम पांच बजे तक कई थानों की फोर्स के साथ सीओ सदर मोर्चा संभाले हुए थे. पुलिस ने गांव की घेराबंदी कर दी थी.

‘ड्यूटी के दौरान 700 शिक्षकों की हो चुकी है मौत’, UP पंचायत चुनावों पर बरसीं प्रियंका गांधी

गोधौरा गांव के कन्हैया कुमार राव की मां जमुंती देवी ने जिला पंचायत सदस्य पद के लिए चुनाव लड़ा था. कन्हैया कुमार का आरोप है कि काउंटिग में 175 मतों से उनकी मां जीत रही थीं, तो उसी बीच काउंटिग रोक दी गई. वे लोग वहां से इधर-उधर हटे तो गणना चालू कर दी गई और कुछ देर के बाद बताया गया कि जमुंती देवी चुनाव हार गई हैं.

मतगणना स्थल पर उनके साथ उपस्थित एजेंटों ने दोबारा गणना कराने की मांग की तो दूसरे प्रत्याशी को 857 मतों से विजयी घोषित कर दिया गया. आरओ धनंजय यादव ने बताया कि मांग पत्र को निर्वाचन अधिकारी तक पहुंचाएंगे. उसके बाद जैसा निर्देश होगा, उसके अनुरूप कार्य किया जाएगा.

UP Panchayat Election Results: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के विभिन्न पदों लिए 1,64,680 उम्मीदवार निर्वाचित

क्षेत्राधिकारी सदर सिद्धार्थ तोमर ने बताया कि COVID-19 के चलते एक स्थान पर भीड़ लगाना सख्त मना है, लेकिन प्रत्याशी के समर्थक मनमाने तरीके से बिना किसी परमिशन के प्रदर्शन कर रहे थे. उन्हें हटने के लिए कहा गया तो उग्र होने लगे, जिसके कारण बलपूर्वक इन लोगों को हटाना पड़ा. देर शाम तक आरओ, कार्यवाहक एसडीएम और प्रत्याशी के बीच वार्ता जारी थी. प्रदर्शनकारी सड़क से लेकर दुकानों के आसपास जमे हुए थे. वहीं पुलिस भी पूरी तरह अलर्ट मोड में खड़ी थी.

एसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि उपद्रव कर रहे प्रत्याशी 900 के लगभग मतों से पराजित हुए और इनके एजेंट ने सहमति पत्र पर हस्ताक्षर भी किया था. मंगलवार को फिर इनके पक्ष के लोगों द्वारा लाठी-डंडे लेकर सड़क जाम कर दी गई. पथराव व फायरिंग के साथ आगजनी का भी प्रयास किया. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर इन्हें खदेड़ दिया. प्रत्याशी समेत कई लोगों को हिरासत में लिया गया है. मौके से कुछ वाहन भी बरामद किए गए हैं, स्थिति अब नियंत्रण में है.

VIDEO: उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के साथ ही गांव-गांव में कोरोना संक्रमण फैला

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *