“Deoria 24 News” Young man breaks into L-2 hospital; Hospital personnel did not give an ambulance, father forced to take son’s body from rickshaw | एल-2 हास्पिटल में युवक ने तोड़ा दम; अस्पताल कर्मियों ने नहीं दिया एंबुलेंस, ई रिक्शे से बेटे के शव को ले जाने पर मजबूर हुआ पिता

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायबरेली33 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
एंबुलेंस न मिलने पर बेटे का शव � - Dainik Bhaskar

एंबुलेंस न मिलने पर बेटे का शव �

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में एल-2 हास्पिटल में कोरोना मरीज की मौत के बाद उसके घर वालों को एंबुलेंस नहीं मिली। थक हार कर परिजन आटो से शव को लेकर घर गए। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है़। फिलहाल जब स्वास्थ्य अधिकारियों से मामले पर बात करने की कोशिश की गई तो किसी ने भी फोन नहीं उठाया।

अस्पताल प्रशासन ने नहीं किया एंबुलेंस का इंतजाम

जानकारी के अनुसार, आरोप है़ कि अस्पताल प्रशासन ने शव को एम्बुलेंस में न भेज कर उसके परिजन को दे दी। जिसके बाद पिता राम लखन अपने बेटे का शव ई-रिक्शा से ले जाने पर मजबूर हो गया। शव को ई-रिक्शा में ले जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसने स्वास्थ्य विभाग के दावों की हकीकत सबके सामने रख दी।

हालांकि निर्देश ये हैं कि कोरोना मरीज की मौत के बाद कोविड प्रोटोकॉल के साथ उसका अंतिम संस्कार होगा। लेकिन रायबरेली में सब कुछ राम भरोसे है़। ई रिक्शा से ले जाया जा रहा शव इस बात का प्रमाण है़ कि रायबरेली का स्वास्थ्य महकमा कोरोना प्रोटोकॉल के तहत मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करवा रहा है़।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *