Gangster Dies In Deoria Jailed – देवरिया: जेल में बंद गैंगस्टर की मौत, 10 माह पहले हुई थी गिरफ्तारी


संवाद न्यूज एजेंसी, देवरिया।
Published by: vivek shukla
Updated Mon, 15 Nov 2021 05:47 PM IST

सार

बलिया जनपद निवासी था और करीब दस माह से जेल में था बंद, जेल से अस्पताल ले जाते समय हुई मौत।

ख़बर सुनें

करीब दस माह से जेल में बंद एक गैंगस्टर की सोमवार दोपहर में तबियत खराब हो गई। हालत नाजुक देख जेल प्रशासन ने उसे जिला अस्पताल भेजवाया। बंदी रक्षक बंदी अस्पताल पहुंचाए, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
 
बलिया जनपद के फेंफना थाना क्षेत्र के खोड़ी पाकड़ गांव निवासी हरदेव 35 वर्ष पुत्र बीर बहादुर को कुशीनगर जनपद के अहिरौली बाजार थाने की पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत चालान किया था। कुछ दिन बाद पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट हरदेव पर गैंगस्टर लगा दिया।

30 जनवरी 2021 से जेल में बंद बंदी को इलाज के लिए 8 नवंबर को जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया और आराम होने पर फिर से जेल लाया गया। 10 नवंबर को उसका अल्ट्रासांउड कराया गया तो पथरी होने की बात डॉक्टरों ने जेल प्रशासन को बताया।

सोमवार की दोपहर में करीब 12 बजे हरदेव का सांस फूलने लगा और गिर पड़ा। यह देख जेल प्रशासन बंदी को जेल के एंबुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

जेलर राजकुमार ने बताया कि बंदी की तबियत कई दिनों से खराब थी। जिसका इलाज जिला अस्पताल कराया जा रहा था। दोपहर में अचानक तबियत खराब हुई तो अस्पताल भेजा गया था। जहां उसकी मौत हो गई है। बंदी के परिजनों को सूचना दे दी गई है।

विस्तार

करीब दस माह से जेल में बंद एक गैंगस्टर की सोमवार दोपहर में तबियत खराब हो गई। हालत नाजुक देख जेल प्रशासन ने उसे जिला अस्पताल भेजवाया। बंदी रक्षक बंदी अस्पताल पहुंचाए, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

 

बलिया जनपद के फेंफना थाना क्षेत्र के खोड़ी पाकड़ गांव निवासी हरदेव 35 वर्ष पुत्र बीर बहादुर को कुशीनगर जनपद के अहिरौली बाजार थाने की पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत चालान किया था। कुछ दिन बाद पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट हरदेव पर गैंगस्टर लगा दिया।

30 जनवरी 2021 से जेल में बंद बंदी को इलाज के लिए 8 नवंबर को जेल प्रशासन ने अस्पताल में भर्ती कराया और आराम होने पर फिर से जेल लाया गया। 10 नवंबर को उसका अल्ट्रासांउड कराया गया तो पथरी होने की बात डॉक्टरों ने जेल प्रशासन को बताया।

सोमवार की दोपहर में करीब 12 बजे हरदेव का सांस फूलने लगा और गिर पड़ा। यह देख जेल प्रशासन बंदी को जेल के एंबुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

जेलर राजकुमार ने बताया कि बंदी की तबियत कई दिनों से खराब थी। जिसका इलाज जिला अस्पताल कराया जा रहा था। दोपहर में अचानक तबियत खराब हुई तो अस्पताल भेजा गया था। जहां उसकी मौत हो गई है। बंदी के परिजनों को सूचना दे दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *