Kidneep – अपहरण नहीं हुआ, दुकानदार अरुण को साथ ले गई है राजस्थान की पुलिस


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
बरहज। क्षेत्र के कुसम्हा चौराहे से लबकनी बासु गांव निवासी पशु आहार विक्रेता अरुण राय का अपहरण नहीं हुआ था , उन्हें राजस्थान की पुलिस अपने साथ ले गई। पुलिस का कहना है कि वहां उनके खिलाफ केस दर्ज था।
लबकनी बासु गांव निवासी अरुण राय पिछले 10 दिनों से कुसम्हा चौराहे पर पशु आहार की दुकान खोला है। रविवार को चौराहा स्थित दुकान से सफेद रंग के आरजे नंबर प्लेट वाली स्कार्पियो सवारों द्वारा गाड़ी में बैठा लिया गया। इसके बाद उनकी पत्नी सरिता देवी की तहरीर पर पुलिस ने अपहरण आदि का केस दर्ज कर तलाश में जुट गई है। एसपी डॉ.श्रीपति मिश्र ने एसओजी टीम को भी लगा दिया गया था। जांच में मामला प्रकाश में आया कि अरुण राय के ऊपर राजस्थान के सीकर जिले के एक थाने में संगीन धाराओं में केस दर्ज है। इस मामले में पुलिस को उनकी तलाश थी। इस संबंध में इंस्पेक्टर मदनपुर विजय सिंह ने बताया कि राजस्थान के सीकर जिले की पुलिस आई थी। जो उसे अपने साथ ले गई है।

संवाद न्यूज एजेंसी

बरहज। क्षेत्र के कुसम्हा चौराहे से लबकनी बासु गांव निवासी पशु आहार विक्रेता अरुण राय का अपहरण नहीं हुआ था , उन्हें राजस्थान की पुलिस अपने साथ ले गई। पुलिस का कहना है कि वहां उनके खिलाफ केस दर्ज था।

लबकनी बासु गांव निवासी अरुण राय पिछले 10 दिनों से कुसम्हा चौराहे पर पशु आहार की दुकान खोला है। रविवार को चौराहा स्थित दुकान से सफेद रंग के आरजे नंबर प्लेट वाली स्कार्पियो सवारों द्वारा गाड़ी में बैठा लिया गया। इसके बाद उनकी पत्नी सरिता देवी की तहरीर पर पुलिस ने अपहरण आदि का केस दर्ज कर तलाश में जुट गई है। एसपी डॉ.श्रीपति मिश्र ने एसओजी टीम को भी लगा दिया गया था। जांच में मामला प्रकाश में आया कि अरुण राय के ऊपर राजस्थान के सीकर जिले के एक थाने में संगीन धाराओं में केस दर्ज है। इस मामले में पुलिस को उनकी तलाश थी। इस संबंध में इंस्पेक्टर मदनपुर विजय सिंह ने बताया कि राजस्थान के सीकर जिले की पुलिस आई थी। जो उसे अपने साथ ले गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *