Protest – छठ घाट की भूमि को लेकर सड़क जाम कर प्रदर्शन


ख़बर सुनें

संवाद न्यूज एजेंसी
पथरदेवा/ बघौचघाट। छठ की वेदी का निर्माण रोकने पर गुस्साए कुचया के लोगों ने शनिवार शाम को पथरदेवा- मलसी मार्ग पर जाम कर प्रदर्शन किया। सूचना पर एसडीएम सदर सौरभ सिंह तीन थानों की पुलिस के साथ पहुंचे। उन्होंने मामले निराकारण कराने का आश्वासन दिया, तब जाकर लोग माने और खुला। ग्रामीणों ने कहा, जो व्यक्ति निर्माण रोक रहा है, उसके बदले में भूमि समझौते के आधार पर दी जा चुकी है।
तरकुलवा थाना क्षेत्र के कुचया ग्राम सभा में दोपहर में ग्रामीण पोखरे के किनारे छठ घाट की सफाई और टूटी हुई छठ की वेेदी का निर्माण करा रहे थे। इसी दौरान गांव निवासी एक व्यक्ति और उसके छोटे भाई पहुंच गए और निर्माण रुकवा दिया। वह भूमि खुद की होने का दावा कर थे। किसी भी प्रकार का निर्माण नहीं करने की हिदायत भी दी। इसे लेकर ग्रामीण उग्र हो गए और पथरदेवा- मलसी मार्ग को जाम कर प्रदर्शन करने लगे। आरोप है कि तरकुलवा पुलिस की मिली भगत से काम रोका जा रहा है। जाम व प्रदर्शन की सूचना पर एसडीएम सदर सौरभ सिंह मौके पर पहुंच गए। एसडीएम ने विवादित जमीन के बारे में दोनों पक्ष से बात की। पूछताछ में पता चला कि 2008 में ग्राम सभा और एक व्यक्ति बीच समझौता हुआ है कि छठ घाट के लिए जमीन छोड़ दें, इसके बदले में ग्राम पंचायत की जमीन मिल जाएगी। इसी आधार पर निर्माण रोकने वाले व्यक्ति ने ग्राम पंचायत की जमीन में मकान बना लिए। अब छठ घाट की जमीन को फिर से अपना बताकर वहां काम करने से मनाकर रहा है। इसी बात को लेकर विवाद हो गया है। एसडीएम सदर ने मौके पर सरकारी जमीन में घर बनाने पर नाराजगी जताते हुए निर्माण रोकने वाले व्यक्ति व उसके भाई को पुलिस के सहयोग से पुलिस चौकी पथरदेवा लेकर चले गए। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि रविवार को इसकी पैमाइश होगी। सरकारी जमीन में मकान बनी होगा तो तोड़ा जाएगा। जबसे कब्जा है तबसे जुर्माना लगेगा। वहीं ग्रामीणों ने कहा कि रविवार को अगर घाट पर सफाई व बेदी का निर्माण नहीं हुआ तो फिर से धरना प्रदर्शन किया जाएगा। एसडीएम सदर ने कहा कि रविवार को तक मामले का निस्तारण करा दिया जाएगा। इस दौरान तरकुलवा, बघौचघाट,रामपुर कारखाना की पुलिस मौके पर तैनात है।

संवाद न्यूज एजेंसी

पथरदेवा/ बघौचघाट। छठ की वेदी का निर्माण रोकने पर गुस्साए कुचया के लोगों ने शनिवार शाम को पथरदेवा- मलसी मार्ग पर जाम कर प्रदर्शन किया। सूचना पर एसडीएम सदर सौरभ सिंह तीन थानों की पुलिस के साथ पहुंचे। उन्होंने मामले निराकारण कराने का आश्वासन दिया, तब जाकर लोग माने और खुला। ग्रामीणों ने कहा, जो व्यक्ति निर्माण रोक रहा है, उसके बदले में भूमि समझौते के आधार पर दी जा चुकी है।

तरकुलवा थाना क्षेत्र के कुचया ग्राम सभा में दोपहर में ग्रामीण पोखरे के किनारे छठ घाट की सफाई और टूटी हुई छठ की वेेदी का निर्माण करा रहे थे। इसी दौरान गांव निवासी एक व्यक्ति और उसके छोटे भाई पहुंच गए और निर्माण रुकवा दिया। वह भूमि खुद की होने का दावा कर थे। किसी भी प्रकार का निर्माण नहीं करने की हिदायत भी दी। इसे लेकर ग्रामीण उग्र हो गए और पथरदेवा- मलसी मार्ग को जाम कर प्रदर्शन करने लगे। आरोप है कि तरकुलवा पुलिस की मिली भगत से काम रोका जा रहा है। जाम व प्रदर्शन की सूचना पर एसडीएम सदर सौरभ सिंह मौके पर पहुंच गए। एसडीएम ने विवादित जमीन के बारे में दोनों पक्ष से बात की। पूछताछ में पता चला कि 2008 में ग्राम सभा और एक व्यक्ति बीच समझौता हुआ है कि छठ घाट के लिए जमीन छोड़ दें, इसके बदले में ग्राम पंचायत की जमीन मिल जाएगी। इसी आधार पर निर्माण रोकने वाले व्यक्ति ने ग्राम पंचायत की जमीन में मकान बना लिए। अब छठ घाट की जमीन को फिर से अपना बताकर वहां काम करने से मनाकर रहा है। इसी बात को लेकर विवाद हो गया है। एसडीएम सदर ने मौके पर सरकारी जमीन में घर बनाने पर नाराजगी जताते हुए निर्माण रोकने वाले व्यक्ति व उसके भाई को पुलिस के सहयोग से पुलिस चौकी पथरदेवा लेकर चले गए। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि रविवार को इसकी पैमाइश होगी। सरकारी जमीन में मकान बनी होगा तो तोड़ा जाएगा। जबसे कब्जा है तबसे जुर्माना लगेगा। वहीं ग्रामीणों ने कहा कि रविवार को अगर घाट पर सफाई व बेदी का निर्माण नहीं हुआ तो फिर से धरना प्रदर्शन किया जाएगा। एसडीएम सदर ने कहा कि रविवार को तक मामले का निस्तारण करा दिया जाएगा। इस दौरान तरकुलवा, बघौचघाट,रामपुर कारखाना की पुलिस मौके पर तैनात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *