Google search engine


देवरिया टाइम्स।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह के निर्देश पर शनिवार देर रात जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर इमरजेंसी में तैनात डॉक्टरों की उपस्थिति की जमीनी हकीकत जाँचने के लिए सघन अभियान चला। अभियान में रात्रिकालीन इमरजेंसी में तैनात 10 मेडिकल ऑफिसर सहित कुल 23 स्वास्थ्यकर्मी अनुपस्थित पाए गए। डीएम ने इन सभी का एक दिन का वेतन काटने के साथ ही ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

सीएमओ डॉ राजेश झा ने बताया कि शनिवार की रात एसडीएम ध्रुव कुमार शुक्ला ने जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में रुद्रपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपस्थिति की जांच की, जिसमें 4 डॉक्टर सहित 11 स्वास्थ्यकर्मी अनुपस्थित मिले। अनुपस्थित रहने वालों में डॉ अनुपम दुबे, डॉ अनुभूति चतुर्वेदी, डॉक्टर वाईपी यादव, डॉ मनोज कुमार सिंह, डॉ सलाउद्दीन खान, अखिलेश सिंह, बीके त्रिपाठी, वीरेंद्र सान्याल, आनंद कुमार, यशवंत सिंह, काशी प्रसाद द्विवेदी आदि अनुपस्थित मिले। बीडीओ सदर ब्लॉक की जांच में मझगवां स्वास्थ्य केंद्र पर इमरजेंसी में तैनात डॉ चन्द्रप्रकाश आर्य, नर्स सरिता व चौकीदार अनुपस्थित मिले। उप जिलाधिकारी सदर ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बैतालपुर की जाँच की जिसमें डॉ नवीन सिंह एवं डॉ आकृति दुबे अनुपस्थित मिली। यहाँ एक वार्ड बॉय भी ड्यूटी से गायब मिला।

एसडीएम बरहज ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बरहज का औचक निरीक्षण किया जिसमें 3 डॉक्टर अनुपस्थित मिले। अनुपस्थित रहने वाले डॉक्टरों में डॉक्टर मूलचंद डॉ एस पी गुप्ता एवं डॉ शैलेंद्र कुमार शामिल थे।

पथरदेवा में एक वार्ड बॉय तथा सलेमपुर में इमरजेंसी में तैनात 2 स्टॉफ नर्स ड्यूटी से नदारद मिली।सीएमओ ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देशों के क्रम में इन सभी अनुपस्थित कार्मिकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here