Google search engine


भटनी। रविवार को राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के द्वारा भटनी नगर में पथ संचलन का आयोजन किया गया था। उस दौरान बौद्धिक सत्र का भी आयोजन किया गया था। उस दौरान संगठन मंत्री डा बालमुकुंद ने कहा कि समरस समृद्ध एवं स्वाभिमानी राष्ट्र का निर्माण ही संघ का लक्ष्य है।


उन्होंने कहा कि संक्रांति प्रतीक है परिवर्तन एवं सामाजिक सरसता का । उन्होंने कहा कि बाहर के लोगों ने आकर भारत मे जाति का भेद पैदा कर समाज को बांटने की कोशिश की। हमे अपने संस्कृति समाज धर्म और जाति व्यवस्था पर पूरा गर्व है। समाज मे एक दूसरे के बिना सभी अधूरे है। उत्थान के लिए सभी लोगों को एकता के भाव मे रहना होगा।

उन्होंने कहा कि वेशभूषा,अचार-व्यवहार, संस्कार से भी हमे भारतीय बनकर रहना चाहिए। बौद्धिक के बाद के के पब्लिक स्कूल से स्वयं सेवकों ने पथ संचलन निकाला। जो चूड़ा गली, गांधी चौक, जलपा माता मंदिर, नकहनी, मुख्य बाजार होते हुए पुनः स्कूल पर पहुँच कर समाप्त हुआ। इस दौरान आशीष पासवान, अभय तिवारी, अनूप राय, फुलबदन,यशवंत, वेद प्रकाश, विधायक सुरेंद्र चौरसिया,दीपक वर्मा आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here