Google search engine

देवरिया टाइम्स।


युवा दिवस के अवसर पर पूर्व छात्र परिषद के तत्वाधान में सरस्वती वरिष्ठ माध्यमिक विद्या मंदिर के सभागार में कक्षा दशम और द्वादश के छात्रों के कैरियर काउंसलिंग का आयोजन किया गया।


गणित विषय के विशेषज्ञ के रूप में 2005 द्वादश के पूर्व छात्र इंजीनियर विपुल दीक्षित रहे। जो वर्तमान में प्रोलिफिक्स कॉर्पोरेशन लिमिटेड हैदराबाद में कार्यरत है। और यूएसए में भी अपनी सेवा दे चुके है। इनके साथ ही 2008 दशम के पूर्व छात्र विश्वजीत मिश्रा रहे। जो वर्तमान में साइबर सिक्योरिटी इंजीनियर के तौर पे टीसीएस लिमिटेड में कार्यरत है।
विपुल दीक्षित और विश्वजीत मिश्रा ने संभावित कार्यक्षेत्र, आईटी दिग्गज सीईओ, स्टार्टअप संस्थापकों के सफलता पर चर्चा, आईआईटी प्रवेश प्रक्रिया, इंजीनियरिंग के विभिन्न शाखाओं को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि सभी सतत अध्ययन को जारी रखे।

अगर किसी चरण में असफलता मिलती है तो उससे सीखते हुए आप आगे बढ़िए आपको सफलता अवश्य मिलेगी। आप अपने अध्ययन को जीवन में पकड़े रहे। गणित विषय में द्वादश के बाद आइआइटी या एनआईटी ही नही इसके अलावा भी बहुत से टॉप इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी है जहां से आप बीटेक कर सकते है। गणित विषय का क्षेत्र बहुत बड़ा है और आप इससे विभिन्न क्षेत्रों में अपना कैरियर बना सकते है।
वाणिज्य विषय के विशेषज्ञ के रूप में 2009 द्वादश के पूर्व छात्र चार्टेड अकाउंटेड अंकित बरनवाल रहे। उन्होंने छात्रों के वाणिज्य विषय के संभावित प्रश्नों का सरलता से उत्तर देते हुए उनके शंकाओं का निराकरण किया। वाणिज्य विषय से उच्च शिक्षा और कैरियर विकल्प के साथ ही प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी शुरू करने का सही समय और साथ ही साथ प्रशासनिक सेवाओं में वाणिज्य विषय की उपयोगिता पर विस्तार से बताया।।


विज्ञान विषय के विशेषज्ञ के रूप में गोरखपुर जिला अस्पताल में बाल रोग विशेषज्ञ के रूप में कार्यरत पूर्व छात्र डा रवि गुप्ता रहे। इन्होंने कानपुर मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस करने के साथ ही इन्होंने एमडी एवं डीएनबी किया, है। इन्होंने पढ़ाई एवं कैरियर के अवसर, नीट जैसी प्रतियोगिता की तैयारी का सही समय, एमबीबीएस के अलावा अन्य विकल्प जैसे होम्योपथ, आयुर्वेद, के साथ ही पैरामेडिकल, फार्मेसी, लैब टेक्नीशियन के ऊपर विस्तार से प्रकाश डाला। डाक्टर बनने के लिए औसत कितना खर्च पड़ता है को भी बताया।
इसके पूर्व कार्यक्रम की औपचारिक शुरुआत मुख्य अतिथि पूर्व छात्र 1976 सत्र के सुनील कुमार गुप्ता और विशिष्ट अतिथि विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष अशोक कुमार श्रीवास्तव एवं प्रबंधक मुन्नीलाल शर्मा द्वारा माँ सरस्वती, माँ भारती एव स्वामी विवेकानन्द के चित्र पर माल्यार्पण कर एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया।
पूर्व छात्र परिषद अध्यक्ष नीरज शर्मा, उपाध्यक्ष शशिकांत मणि और महामंत्री विवेकानन्द शर्मा ने अतिथियों एवं विषय विशेषज्ञ को अंग वस्त्र, स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इसके साथ ही उपस्थित पूर्व भैयायों को दैननंदिनी देकर उनका आभार व्यक्त किया गया।
बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आप सभी को देखकर मुझे अपना बचपन याद आ गया। मुझे बहुत प्रसन्नता है की पूर्व छात्रों द्वारा बहुत ही अच्छा कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसके लिए सभी पदाधिकारी भैया बधाई के पात्र है। इसी क्रम में प्रबंधक मुन्नीलाल शर्मा, भानु प्रताप त्रिपाठी, अनिरुद्ध सिंह ने भी संबोधित किया।
कार्यक्रम का संचालन पूर्व छात्र रविकांत मणि त्रिपाठी ने किया।
इस अवसर पर प्रधानाचार्य सरस्वती विद्या मंदिर अनिरुद्ध सिंह, प्रधानाचार्य सरस्वती शिशु मंदिर भानु प्रताप त्रिपाठी, मार्गदर्शक मंडल सदस्य पुष्पराज तिवारी, मनीष वर्मा, अध्यक्ष नीरज शर्मा, उपाध्यक्ष शशिकांत मणि त्रिपाठी, महामंत्री विवेकानन्द शर्मा, प्रचार प्रमुख अभिषेक त्रिपाठी, सदस्य सुधांशु शर्मा, कार्तिकेय गुप्ता, पूर्व छात्र परिषद अध्यक्ष रुद्रपुर रामेश्वर विश्वकर्मा, विश्वजीत गुप्ता, अमित मोदनवाल, संजय यादव, शिवा श्रीवास्तव, भगिनी निवेदिता सरस्वती बालिका विद्या मंदिर की पूर्व छात्रा तनिष्क तिवारी, बृजवासिनि तिवारी, हर्षिता मिश्रा उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here