Google search engine


भटनी/देवरिया टाइम्स
भोर स्वास्थ्य केन्द्र पर किसी डाक्टर के न होने से दो शिक्षकों की मौत चंद मिनटो में ही हो गयी। स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मियों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए तीमारदार तथा स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा किया। हंगामे को देखते हुए सीएमओ ने तत्काल प्रभारी चिकित्साधिकारी सहित रात में ड्यूटी से नदारद चिकित्सक को हटा दिया है।
नगर के सुभाष इंटर कॉलेज में कार्यरत शिक्षक प्राणनाथ मिश्र भटनी में किराए के मकान में रहते हैं। अचानक सुबह उनकी तबियत खराब होने पर आस पास के लोग उन्हें लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। जहां इलाज के अभाव में उनकी मौत हो गयी। कुछ ही देर पहले क्षेत्र के कम्पोजिट विद्यालय पिपरादेवराज में तैनात शिक्षिका अर्चन भारती की भी तबियत खराब होने पर उन्हे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया था। जहां फर्मासिस्ट ने रेफर कर दिया था। जिनकी देवरिया जाते समय रास्ते में ही मौत हो गयी थी।

दो घन्टे में ही इलाज के अभाव में दो शिक्षकों के मौत की सूचना मिलते ही लोगों का गुस्सा फुट पड़ा। नाराज लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचकर धरने पर बैठ गए। नगर पंचायत अध्यक्ष डॉ बलराम जायसवाल, पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष रमेश वर्मा, विजय कुमार गुप्त, दीपक वर्मा, कॉलेज के शिक्षक सत्येन्द्र गुप्त, डॉ शशिशेखर मिश्र, संजय कुमार, सूरज, अंकित कुमार, सत्यम मिश्र, सपा नेता विशु, अवधेश गुप्त सीएमओ के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हंगामा करने लगे।

करीब चार घन्टे बाद मौके पर पहुंच उपजिलाधिकारी अरुण कुमार तथा डिप्टी सीएमओ बीपी सिंह मौके पर पहुंचे। नाराज लोगों का आरोप था कि करीब 9ः30 बजे तक किसी चिकित्सक की मौजूदगी नहीं थी। रात्रि में डयूटी देने वाले चिकित्सक तथा प्रभारी भी मौके से गायब थे। लोगों की शिकायत पर सीएमओ ने प्रभारी चिकित्साधिकारी को ड्यूटी रजिस्टर के साथ तलब किया। डीएम के निर्देश पर सीएमओ ने प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ मनीष कुमार सिंह तथा अमित जायसवाल को हटा दिया। सीएमओ कार्यालय के अनुसार दोनों चिकित्सकों के खिलाफ शासन को पत्र भी भेजा गया है।

शिक्षकों ने जताया शोक
शिक्षिका अर्चन भारती तथा प्राणनाथ मिश्र के असामयिक निधन पर बीआरसी कार्यालय पर सुभाष इंटर कॉलेज में शोक सभा का आयोजन किया गया। कॉलेज प्रधानाचार्य सत्येन्द्र गुप्त, इंदूशेखर मिश्र, संजय सिंह, सत्यम मिश्र, राजीव मणि, डॉ राजकुमार प्रजापति, आशुतोष कुमार, गांधी आदि ने शिक्षक के असामयिक निधन पर शोक संवेदना प्रकट की। बीआरसी पर कार्यालय खण्ड शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार यादव, प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लाक अध्यक्ष अवनीश कुमार दीक्षित, व्यास मुनि पाण्डेय, आशतोष पति त्रिपाठी, फुलमुहम्मद, राजेश कुमार, ताहिर अहमद, प्रेमचन्द्र सिंह आदि मौजूद रहे।


पोस्टमार्टम के बाद शव को परिवारीजनों को सौपा
कम्पोजिट विद्यालय में कार्यरत शिक्षिका अर्चन भारती के शव को पिता लालबहादुर तथा भाई पोस्टमार्टम के बाद आजमगढ़ लेकर चले गए। सदर क्षेत्र क गुलामीपुर मुहल्ला निवासी शिक्षिका की मौत से पूरा परिवार सदमें में था। पोस्मार्टम कार्यालय पर भी ब्लाक अध्यक्ष ओपी शुक्ल, मंत्री रामनिवास यादव, सुरेश यादव, रामप्रसाद, सच्चितानंद, मनोज कुमार तिवारी आदि ने शोक व्यक्त किया।

जिगिना मिश्र में परिवार के साथ किराए के मकान में रहते थे शिक्षक प्राणनाथ
लार थाना क्षेत्र के कुण्डावल तारा गांव के विशुनपुरा टोला निवासी शिक्षक प्राणनाथ मिश्र जिगिना मिश्र में किराए गए मकान में रहते थे। वह कॉलेज के बच्चों के चहेते शिक्षकों में थे। उनकी मौत की सूचना मिलते ही छात्र भी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंच गए। उनकी अचानक मौत से पूरा विद्यालय परिवार की आंखे नम थीं। अचानक पिता की मौत से बेटी अनुराधा, आराधना, एंजल मिश्र, अनामिका मिश्र तथा पत्नी प्रियंका मिश्र का रो रो कर बुरा हाल था। शाम को शिक्षक का अंतिम संस्कार छोटी गण्डक घाट पर किया गया।
शिक्षकों की मौत का मामला गंभीर है। स्वास्थ्य सेवाओं में लगे कर्मियों तथा चिकित्सकों की लापरवाही अक्षम्य है। तत्काल प्रभाव से प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ मनीष कुमार सिंह तथा रात्रि में अपनी ड्यूटी से गायब चिकित्सक डॉ अमित जायसवाल को हटा दिया गया है। दोनों के खिलाफ शासन को पत्र भेजा गया है। डॉ राजेश कुमार झा, सीएमओ, देवरिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here