Google search engine

देवरिया टाइम्स।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम की श्रृंखला में 11 दिसंबर को महाकवि सुब्रमण्यम भारती जी के जन्म जयंती के शुभ अवसर पर भारतीय भाषा उत्सव मनाया जा रहा है। सुब्रमण्यम भारती एक तमिल कवि थे, जिन्हें महाकवि भारतियार के नाम से भी जाना जाता है। वह एक कवि होने के साथ-साथ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में शामिल सेनानी, समाज सुधारक, पत्रकार तथा उत्तर भारत व दक्षिण भारत के मध्य एकता के सेतु के समान थे।

जिलाधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘काशी तमिल संगमम’ का उद्घाटन किया गया है। काशी तमिल संगम का मुख्य उद्देश्य उत्तर और दक्षिण भारत के ऐतिहासिक और सभ्यागत संबंधों के कई पहलुओं, ज्ञान और सांस्कृतिक परंपराओं को करीब लाना है और हमारी साझा विरासत की समझ पैदा करना है। इससे राष्ट्रीय एकता को मजबूती मिलेगी।

जिलाधिकारी ने बताया कि महाकवि सुब्रमण्यम भारती के जन्मदिन के अवसर पर जनपद में विविध कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। मुख्य कार्यक्रम का आयोजन नागरी प्रचारिणी सभा के सभागार में किया जाएगा। इसके अंतर्गत जनपद के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिसमें महान कवि सुब्रमण्यम भारती के साहित्य एवं व्यक्तित्व की चर्चा की जाएगी। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं के बारे में छात्र-छात्राओं को विस्तार पूर्वक बताया जाएगा एवं राष्ट्रीय एकता में विभिन्न भारतीय भाषाओं के योगदान पर वृहद चर्चा की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here