Google search engine


Deoria News: देवरिया टाइम्स।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने आज कलेक्ट्रेट सभागार में 5 जनवरी से प्रारंभ होने वाले सड़क सुरक्षा माह की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि अंतर विभागीय समन्वय स्थापित करके इस अभियान को सफल बनाया जाए। बैठक में एआरटीओ के उपस्थित न होने एवं बिना अनुमति गैर जनपद जाने पर डीएम ने गहरी नाराजगी व्यक्त की और एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि सुरक्षित एवं सुगम यातायात हेतु सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाए जाने के निमित्त जनमानस को यातायात के नियमों एवं सुरक्षा मानकों के प्रति जागरुक करने के दृष्टिगत 05 जनवरी से 04 फरवरी तक सड़क सुरक्षा माह मनाने का निर्णय लिया गया है। इस माह में रोस्टरवार कई जन जागरूकता अभियान संचालित किए जाएंगे जिसमें परिवहन विभाग, पुलिस विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, शिक्षा विभाग, समस्त निर्माण एजेंसी की भूमिका होगी। उन्होंने बताया कि समस्त विद्यालयों के वाहन, रोडवेज से अनुबंधित बस, अस्पतालों के एंबुलेंस सहित विभिन्न विभागों के चालकों के आंखों का परीक्षण किया जाएगा। ट्रॉली, ट्रक आदि में रिफ्लेक्टर लगाए जाएंगे।।


जिलाधिकारी ने बताया कि 05 जनवरी को कार्यक्रम का उद्घाटन एवं सड़क सुरक्षा शपथ ग्रहण समस्त विभाग द्वारा आयोजित किया जायेगा, जिसमें एलईडी वाहन/प्रचार रथ की हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ, कार्यक्रम में स्थानीय जनप्रतिनिधियों/वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा सम्बोधन उद्घाटन, जागरुकता संबंधी पोस्टर, स्टीकर, हैण्डबिल एवं पम्पलेट का जनमानस में वितरण, पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से प्रचार-प्रसार, सडक सुरक्षा से संबंधित संबंधित वीडियो को शिक्षा विभाग की सभी आनलाइन कक्षाओं में दिखाया जाना, सीआरआरआई दिल्ली द्वारा उच्च शिक्षण के प्रवक्ताओं/प्रचार्यो का सड़क सुरक्षा जागरुकता से संबंधित आनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम इस दिन आयोजित होगा। 06 जनवरी को जनपदीय कार्यालयों के कर्मचारियों एवं अधिकारियों का सड़क सुरक्षा के संबंध में आनलाईन प्रशिक्षण, ड्राइविंग रेगूलेशन, 2017 एवं मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 के बारे में प्रशिक्षित किया जायेगा। पुलिस विभाग द्वारा यातायात कर्मियों के कार्य व्यवहार, टर्न आउट व आचारण में सुधार पर विशेष ध्यान दिये जाने एवं यातायात पुलिस कर्मियों को यातायात संकेतों के संचालन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। कर्मचारियों एवं अधिकारियों ड्राइविंग रेगूलेशन, 2017 एवं मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 के बारे प्रशिक्षित किया जायेगा। चिकित्सा व स्वास्थ्य विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा जिला अस्पतालो में वाहन चालकों का स्वास्थ्य एवं नेत्र परीक्षण किया जाएगा।

शिक्षा विभाग द्वारा सीआरआरआई दिल्ली द्वारा उच्च शिक्षण के प्रवक्ताओं/प्रचार्यो का सड़क सुरक्षा जागरुकता से संबंधित आनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा। समस्त सड़क निर्माण विभाग/ एजेंसी के मुख्यालय द्वारा अपने समस्त अधिशासी अभियंता, सहायक अभियंता एवं अवर अभियंताओं का सी०आर०आर०आई0किसी आई०आई०टी० अथवा मोर्य द्वारा नामित संस्था के द्वारा सड़क सुरक्षा के संबंध में ऑनलाइन संवेदीकरण/ प्रशिक्षण, जिसमें ब्लैक स्पॉट के अल्पकालिक सुधारीकरण पर विशेष बल दिया जायेगा। 07 जनवरी को जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन तथा बैठक में सड़क सुरक्षा माह के आयोजन पर विशेष बल देकर कार्यक्रमों का आयोजन कराया जायेगा। उच्च शिक्षण संस्थानों में गठित रोड सेफ्टी क्लब के अंतर्गत एनएसएस के छात्रों द्वारा पोस्टर व रंगोली प्रतियोगिता आयोजित होगा।
08 जनवरी को स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से हेल्थ कैम्प का आयोजन, जिसमें चालकों/परिचालकों, यातायात पुलिस कर्मियों/प्रवर्तन सिपाहियों एवं स्कूली वाहन चालकों का स्वास्थ्य व नेत्र परीक्षण किया जाएगा। इसी प्रकार 4 फरवरी तक रोस्टरवार कार्यक्रम निर्धारित है।

बैठक में पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, सीएमओ डॉ राजेश झा, एडीएम प्रशासन गौरव श्रीवास्तव, बीएसए हरिश्चंद्र नाथ, अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी आरके सिंह, अधिशासी अभियंता निर्माण खंड मनोज पांडेय, पीटीओ अनिल तिवारी, एडीआईओएस महेंद्र कुमार सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here