Google search engine


Deoria News:देवरिया टाइम्स।

विचार लो कि मर्त्य हो न मृत्यु से डरो कभी,
मरो परंतु यों मरो कि याद जो करें सभी|
हुई न यों सुमृत्यु तो वृथा मरे,वृथा जिये,
मरा नहीं वही कि जो जिया आपके लिए|
राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त की उपर्युक्त पंक्तियां सनबीम स्कूल के संस्थापक निदेशक स्मृति शेष दिनेश मिश्रा के चरित्र से बिल्कुल मेल खाती हैं|उन्होंने देवरिया जैसे पिछड़े क्षेत्र में उत्तम शिक्षा के प्रसार के लिए आजीवन प्रयास किया और 20 अप्रैल 2012 को उनके प्रयास ने यथार्थ रूप लिया और देवरिया के सोंदा ग्राम में सनबीम स्कूल जैसी संस्था की स्थापना कर शिक्षा की जो ज्योति जलाई वह निरंतर आलोकित हो रही है|


विदित हो कि सनबीम स्कूल देवरिया में विद्यालय के संस्थापक निदेशक स्मृति शेष दिनेश मिश्रा का 65 वां जन्मदिवस मनाया गया| कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के निदेशक अवनीश मिश्रा व उपनिदेशका नीतू मिश्रा ने उनके चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर एवं उनके चित्र पर माल्यार्पण करके किया| इस अवसर पर विद्यालय के सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं छात्र-छात्राओं एवं सहायक कर्मचारियों ने भी स्वर्गीय मिश्रा जी के प्रति अपना श्रद्धा-सुमन अर्पित किया|विद्यालय के हिंदी शिक्षक संतोष पांडेय ने स्वर्गीय मिश्रा के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज वे भले ही हमारे बीच सशरीर नहीं हैं.

परंतु उनकी यश रूपी काया आज भी हम सबके बीच उपस्थित रहकर हमें प्रेरणा दे रही है|इस अवसर पर निदेशक महोदय व निदेशिका महोदया ने विद्यालय के सहायक कर्मचारियों एवं असहाय जनों के लिए गर्म वस्त्र और मिष्ठान का वितरण कर उनका शुभाशीष प्राप्त किया|इसी के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here